Home मीडिया ‘’ज्‍यादा पत्रकारिता मत करो वरना जिंदा नहीं बचोगे’’- बाबा मनमोहन के गुंडों...

‘’ज्‍यादा पत्रकारिता मत करो वरना जिंदा नहीं बचोगे’’- बाबा मनमोहन के गुंडों की पत्रकार को धमकी

SHARE

बलात्कारी बाबा मनमोहन के 5-6 अज्ञात समर्थकों के द्वारा आज शाम 7:20 पर मुझे दिल्ली में धमकी दी गई तथा कहा गया कि आप इस मैटर के पीछे हट जाइए और लड़की के परिवार वालों और लड़की पर दबाव बनाइए कि वह कैसे भी करके केस वापस ले नहीं तो लड़की के परिवार वाले का बुरा हाल तो होगा ही, आपका भी बुरा हाल हो जाएगा। हम लोगो की बात मानिए, हम लोग आपके पास इसीलिए आए हैं। कल से ही हम लोग आपको खोज रहे थे लेकिन आज आप मिले हैं।

मैंने इस पर जवाब दिया कि आप लोग क्यों परेशान हो रहे हैं। बलात्कारी बाबा ने बलात्कार किया है और पीड़ितों ने न्याय के लिए प्रशासन के समक्ष गुहार लगाई है और बाबा गिरफ्तार हुआ है तो आपको दिक्कत क्यों हो रही है?

बाबा समर्थकों ने मुझसे कहा कि ज्यादा पत्रकारिता मत करो नहीं तो अपना जीता मुह नहीं देख पाओगे। इसके बाद मैंने तुरंत उन लोगों को कहा कि मैं पुलिस को फोन कर रहा हूं, आप लोग यही पर रुको। तत्काल बाबा समर्थक गुंडे वहां से भाग खड़े हुए और भीड़ से अलग हटकर अपने बाइक को लेकर भाग गए।

इसके बाद हमने इस संबंध में एक कंप्लेन नजदीकी थाना में दिया तथा अपने सुरक्षा की चिंता थानाध्यक्ष के समक्ष जाहिर की जिसके बाद थाना अध्यक्ष ने मेरा कंप्लेंट लेते हुए उसका रिसिप्ट मुझे दिया।

गौरतलब है कि बिहार की मूल निवासी तथा लुधियाना पंजाब में निवास करने वाली दो साध्वी बहनों के साथ बलात्कारी बाबा मनमोहन ने बलात्कार करके और उसका वीडियो वायरल करने के धमकी देकर तथा माता पिता भाई की हत्या का धमकी देकर लगातार छोटी बहन के साथ 8 साल तक तथा बड़ी बहन के साथ 2 साल यौन शोषण किया।

हुआ यूं कि नवंबर 2018 में मैं सत्संग का कवरेज करने के लिए लुधियाना पंजाब गया हुआ था जहां यह दोनों साध्वी बहन मिली। मैंने उन दोनों को अपना कार्ड दिया और अपना परिचय दिया।

इन दोनों बहनों ने उसके लगभग 25 दिन बाद मुझे फोन से संपर्क किया तथा अपनी आपबीती बताई और जघन्य शोषण की वारदात की पूरी कहानी मुझे बताई।

मैंने दोनों बहनों को गाइडलाइन करते हुए कहा कि आपके साथ जो भी शोषण अत्याचार हुआ है उसको सादा कागज पर लिखकर प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति, राष्ट्रीय महिला आयोग, भारत सरकार तथा बिहार के मुख्यमंत्री को भेजो और उसकी एक प्रति मुझे भी भेजो।

पीड़ित दोनों साध्वी बहनों ने ऐसा ही किया और पत्र भेजने के बाद एक प्रति मुझे दी। मैंने उस लेटर को ट्रैक किया तथा संबंधित अधिकारियों से बात करके उचित कार्रवाई की बात की।

हमने इस मामले में दिल्ली महिला आयोग का भी सहयोग लिया और दिल्ली महिला आयोग की हेल्पलाइन कि टीम ने फोन पर पीड़ित दोनो साध्वी बहनों का काउंसलिंग किया और उनको पुलिस स्टेशन में मुकदमा दर्ज करने के लिए कहा।

इस पर बड़ी बहन ममता बिहार में जाकर बाबा के खिलाफ मुकदमा करने पर तैयार हुई। फिर ममता 25 जनवरी को लुधियाना से चलकर दिल्ली आई तब हमने दिल्ली महिला आयोग और बिहार महिला हेल्पलाइन को सूचित करते हुए दिल्ली से बिहार भेज दिया जहां वहां के स्थानीय साथियों ने उनकी मदद की और वह 28 जनवरी को पहले सुबह सुपौल पुलिस अधीक्षक के पास पहुंचर अपना बयान देकर एफआईआर दर्ज करवाई जिसके आधार पर बलात्कारी ढोंगी बाबा मनमोहन को पुलिस ने फुलपरास मधुबनी स्थित उसके आश्रम से गिरफ्तार कर लिया।

गिरफ्तारी के बाद बाबा के गुंडे समर्थक बौखला गए हैं। चूंकि बलात्कारी ढोंगी पाखंडी बाबा मनमोहन को यह मालूम हो चुका है कि इस मामले के उद्भेदन मे पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्ता राजीव कुमार का हाथ है इसलिए वह मेरी कभी भी हत्या करा सकता है।

अत:साथियों मैं आप सभी को सूचित करता हूं कि भविष्य में यदि मेरी हत्या होती है अथवा मुझ पर जानलेवा हमला या फिर कोई अप्रिय घटना मेरे साथ घटित होती है तो इसका जिम्मेदार बलात्कारी बाबा मनमोहन साहेब होगा।

आपका साथी
राजीव कुमार
फ्रीलांसर पत्रकार तथा सामाजिक कार्यकर्ता नई दिल्ली

कबीर की चादर मैली करने वाला ‘अंतरराष्‍ट्रीय महंत’ गिरफ्तार, खुल सकते हैं दो दर्जन रेप केस

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.