Home लोकसभा चुनाव 2019 अमेठी : स्‍मृति ईरानी के ट्वीट पर अंधा भरोसा कर के प्रधानमंत्री...

अमेठी : स्‍मृति ईरानी के ट्वीट पर अंधा भरोसा कर के प्रधानमंत्री ने भाषण दे दिया, बात गलत निकली

SHARE

अमेठी में आज मतदान शुरू हो चुका है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा महागठबधन में दरार संबंधी बयानों को दरकिनार करते हुए बसपा प्रमुख मायावती ने अपनी पार्टी के वोटरों से आह्वान किया है कि वे अमेठी और रायबरेली में कांग्रेस प्रत्‍याशियों यानी क्रमश: राहुल और सोनिया गांधी को वोट दें।

इस बीच रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा ग्‍वालियर की एक रैली में अमेठी के सरकारी अस्‍पताल के बारे में दिए गए विवादास्‍पद बयान पर अस्‍पताल के निदेशक एसएम चौधरी के स्‍पष्‍टीकरण ने मामले को साफ़ कर दिया है कि मोदी ने मामले की बिना पुष्टि किए स्‍मृति ईरानी के ट्वीट के आधार पर जनसभा में यह बात कह दी थी।

मोदी ने एक चुनावी जनसभा में अमेठी के संजय गांधी अस्‍पताल के बारे में दावा किया था कि इस अस्‍पताल में कुछ दिन पहले एक गरीब आदमी अपना आयुष्‍मान कार्ड लेकर इलाज करवाने गया था। मोदी ने दावा किया था कि उसका इलाज करने से केवल इसलिए मना कर दिया गया क्‍योंकि वह आयुष्‍मान कार्ड लेकर गया था।

मोदी ने यह बात दरअसल अमेठी से भाजपा की उम्‍मीदवार स्‍मृति ईरानी के एक ट्वीट के आधार पर कही थी जिसमें उन्‍होंने एक व्‍यक्ति का ऐसा वीडियो पोस्‍ट किया था जिसमें वह अपने परिजन के संबंध में ऐसा दावा करता नजर आया था।

रविवार को ही इस मामले में अस्‍पताल के निदेशक चौधरी का स्‍पष्‍टीकरण आ गया। उन्‍होंने स्‍मृति ईरानी के वीडियो का हवाला देते हुए कहा कि यह आरोप निराधार है और वे अब तक योजना के अंतर्गत 200 मरीजों का इलाज कर चुके हैं।

चौधरी ने कहा कि जिस मरीज के बारे में यह दावा किया जा रहा है वह अपने साथ आयुष्‍मान कार्ड लेकर अस्‍पताल नहीं आया था।

स्‍मृति ईरानी द्वारा किए गए ट्वीट की सत्‍यता जांचे बगैर नरेंद्र मोदी ने उसे जनसभा में दुहराया तो भारतीय जनता पार्टी ने भी उनके बयान को जस का तस ट्वीट कर दिया।

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.