तमिलनाडु: CAA के खिलाफ हजारों प्रदर्शनकारियों का सचिवालय तक विरोध मार्च

SHARE

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में सीएए, राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) के विरोध में लोग सड़क पर उतर आए हैं. आज राज्य सचिवालय के बाहर जबरदस्त प्रदर्शन हो रहा है.

सीएए के खिलाफ निकाले गए मार्च में हजारों की संख्या में महिलाएं शामिल हैं. 14 फरवरी को चेन्नई के वाशरमेनपेट में प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज के बाद शहर में महिलाओं ने पुलिस की ज्यादती के खिलाफ धरना-प्रदर्शन का आयोजन किया और लाठीचार्ज में शामिल अफसरों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है.

दिल्ली के शाहीन बाग की ही तरह चेन्नई में भी महिलाएं सीएए, एनआरसी और एनपीआर का विरोध कर रही हैं. आज प्रदर्शनकारी सीएए के विरोध में फोर्ट सेंट जॉर्ज से सचिवालय तक मार्च निकाल रहे हैं. प्रदर्शनकारियों की मांग है कि तमिलनाडु विधानसभा भी सीएए के खिलाफ प्रस्ताव पारित करे. आज की रैली की शुरुआत कलिवानर आरंगम से हुई है.

इस बीच तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने मंगलवार को कहा कि जिनका जन्म इस राज्य में हुआ है, वह नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) से प्रभावित नहीं होंगे. मुख्यमंत्री ने विधानसभा में कहा कि विपक्षी द्रमुक को यह स्पष्ट करना चाहिए कि तमिलनाडु में कौन सीएए से प्रभावित होगा. पलानीस्वामी ने कहा कि जिनका जन्म तमिलनाडु में हुआ है, वह सीएए से प्रभावित नहीं होंगे.

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.