शिक्षा-स्वास्थ्य पर फोकस कर के 28 नवंबर से नीतीश के खिलाफ मोर्चा खोलेगी रालोसपा

SHARE

उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी राष्ट्रीय लोक समता पार्टी में आंतरिक चुनाव की प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद अब सारा ज़ोर बिहार की नीतीश सरकार के खिलाफ शिक्षा और स्वास्थ्य के मुद्दे पर मोर्चा खोलने पर है।

उपेंद्र कुशवाहा रालोसपा के एक बार फिर से राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने गये हैं। सबसे अहम बात ये है कि कम्युनिस्ट पार्टी की पृष्ठभूमि वाले जुझारू नेता जितेन्द्र नाथ को प्रदेश में अभियान समिति का अध्यक्ष बनाया गया है। पार्टी 28 नवंबर से प्रदेश में एक व्यापक जनसंवाद अभियान लेने जा रही है।

इस अभियान की शुरुआत पश्चिमी चम्पारण से कुशवाहा खुद करेंगे। अध्यक्ष चुने जाने के बाद उन्होंने दिल्ली में नेशनल दस्तक को दिए एक इंटरव्यू में अपनी राजनीति पर कुछ साफ़ बातें कहीं।

एनडीए से अलग होने के बाद रालोसपा बिहार की इकलौती पार्टी है जो सड़क से सदन तक लगातार आंदोलन और अभियान में जुटी हुई है। माना जा रहा है कि बिहार के आगामी विधानसभा चुनाव में अगर विपक्ष के बीच एकता कायम हुई तो उपेंद्र कुशवाहा मज़बूत बनकर उभर सकते हैं।

मंगलवार को पटना में उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर के राष्ट्रीय इकाई के गठन और आगामी रणनीति के संबंध में सूचना दी।

#पटना : प्रदेश #रालोसपा कार्यालय में मीडिया के साथियों को संबोधित करते हुए ।

Posted by Upendra Kushwaha on Tuesday, October 29, 2019

 

पार्टी के आंतरिक चुनाव में चुने गये पदाधिकारियों की सूची नीचे है।

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.