Home पड़ताल प्रधानमंत्री की आड़ में आचार संहिता का उल्‍लंघन और घोटाला, कार्रवाई के...

प्रधानमंत्री की आड़ में आचार संहिता का उल्‍लंघन और घोटाला, कार्रवाई के नाम पर फर्जी निपटारा

SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पदभार संभालने के बाद ढाई साल के भीतर घोषित की गई दर्जनों योजनाएं भले ज़मीन पर अपने अंजाम तक न पहुंची हों, लेकिन जालसाज़ों और ठगों के लिए वे कमाई का अच्‍छा और आसान साधन बन गई हैं। प्रधानमंत्री की योजनाओं के संबंध में धोखाधड़ी और चुनाव आचार संहिता के उल्‍लंघन से दो संबंधित दो प्रमुख खबरें उत्‍तर प्रदेश से आई हैं।

पहली ख़बर शुक्रवार को टाइम्‍स ऑफ इंडिया में ग़ाजि़याबाद डेटलाइन से प्रकाशित है। राज्‍य के ग़ाजि़याबाद जिले में प्रशासन ने एक कथित ‘घोटाले’ की जांच के आदेश जारी किए जिसमें कई महिलाओं को एक गिरोह ने प्रधानमंत्री की योजनाओं के तहत नकद राशि के नाम पर बड़े पैमाने पर ठगने का काम किया है। यह मामला तब सामने आया जब कई महिलाओं ने अधिकारियों से शिकायत की कि उन्‍होंने प्रधानमंत्री योजना के आवेदन पत्र खरीदने और योजना में नाम लिखवाने के लिए नकद राशि का भुगतान किया था।

ग़ाजि़याबाद के मुस्लिम बहुल क्षेत्र मसूरी में महिलाओं ने बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओं योजना के आवेदन पत्र खरीदने के लिए पहले 400 रुपए प्रत्‍येक चुकाए, उसके बाद उनके प्रसंस्‍करण के नाम पर प्रत्‍येक 970 रुपये का भुगतान किया। यह भुगतान सिंह राज सेवा समिति नाम के एक स्‍थानीय एनजीओ को किया गया जो प्रधानमंत्री योजना के फर्जी आवेदन पत्र बेच रहा था।

यह घोटाला ऐसे समय में हुआ जब लोग नोटबंदी की मार से गुज़र रहे थे। इस एनजीओ के लोगों ने पक्‍के मकान बनवाने, बेटियों को पढ़वाने, बीमारों के मुफ्त इलाज और कर्ज माफी के नाम पर प्रधानमंत्री की विभिन्‍न योजनाओं के नाम पर इलाके के लोगों से पैसे ऐंठे और अपना दफ्तर बंद कर के चलते बने। मामला तब खुला जब पीडि़त महिलाओं ने पाया कि एनजीओ का दफ्तर करीब महीने भर से बंद पड़ा था। उन्‍होंने उसके अधिकारियों के फोन नंबर पर फोन मिलाए, लेकिन जवाब नहीं मिला। तब जाकर महिलाओं ने जिला प्रशासन में शिकायत दर्ज करवायी।

इससे कहीं ज्‍यादा महीन और संगीन मामला उत्‍तर प्रदेश में चुनावों के दौरान सामने आया जब बाकायदा प्रधानमंत्री योजना के नाम से चल रही एक निजी वेबसाइट ने चुनाव आयोग की वेबसाइट से मतदाताओं के फोटो वोटर स्लिप अपने यहां अपलोड कर दिए और सर्च इंजन में अपनी वेबसाइट को डलवा दिया। गूगल पर अगर कोई मतदाता voter slip with photo के नाम से सर्च करता तो उसे गूगल pradhanmantriyojana.in नामक वेबसाइट पर ले जाता। उस वेबसाइट पर एक सवाल लिखा होता- ”क्‍या 11 मार्च को कमल खिलेगा?”

अव्‍वल तो यह चुनाव आयोग के समानांतर काम करने और सूचना मुहैया कराने का फर्जीवाड़ा है, दूसरे केंद्र सरकार की सत्‍ताधारी पार्टी का प्रचार है जो आचार संहिता का उल्‍लंघन भी है। इस संबंध में बनारस से समाजवादी जन परिषद के नेता अफलातून देसाई ने बीती 10 फरवरी को राज्‍य निर्वाचन आयुक्‍त के पास शिकायत दर्ज करवायी थी (शिकायत संख्‍या UP/40/390/514629)। शिकायत में कहा गया था:

आयोग का ध्यान एक अत्यन्त गंभीर आचार संहिता उल्लंघन की ओर दिला रहा हूं। कृपया इस वेब साइट को देखें- http://www.pradhanmantriyojana.in/district-wise-up-voter-list-matdata-suchi-with-photo-download-pdf-search-online/ इस वेब पेज पर फेसबुक के इस पेज का लिंक है- https://www.facebook.com/pradhanmantriyojana.in/ फेसबुक के इस पेज पर श्री नरेन्द्र मोदी के चित्र के साथ ”क्या 11 मार्च को कमल खिलेगा?” प्रचारात्मक प्रश्न हैं। इसके अलावा इस पेज से भारत के निर्वाचन आयोग के विभिन्न लिंक दिए गए हैं। यह निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान प्रचार हेतु पद के दुरुपयोग का स्पष्ट उदाहरण है। आयोग तत्काल हस्तक्षेप कर इस वेबसाइट को बन्द कराये। ”voter slip with photo” यह सर्च करने पर ”प्रधान मंन्त्री योजना” का पेज खुलता है।

आयोग की वेबसाइट पर शिकायत ट्रैक करने वाले पेज पर शिकायत संख्‍या डालने पर कार्रवाई की तारीख 11 फरवरी के सामने ”ऐक्‍शन टेकेन” के अंतर्गत रोमन हिंदी में लिखा है, ”आपकी बातों को ध्‍यान में रखते हुए आयोग से बात हो रही है, थैंक्‍स”। दिलचस्‍प यह है कि बगल वाले कॉलम ”स्‍टेटस” में दर्ज है DISPOSED यानी शिकायत का निपटारा हो चुका।

अगर ‘आयोग से बात हो रही है’ तो स्‍टेटस DISPOSED कैसे लिखा जा सकता है?

संबद्ध वेबसाइट pradhanmantriyojana.in एक निजी वेबसाइट है जो हिमाचल प्रदेश से किसी निशांत कौडल नाम के व्‍यक्ति द्वारा पंजीकृत करवायी गयी है। पंजीकरण में दर्ज मोबाइल फोन नंबर 9569905006 पर फोन करने पर यह बंद बता रहा है। मीडियाविजिल ने वेबसाइट के स्‍वामी से संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन संभव नहीं हो सका।

फिलहाल वेबसाइट पर से तो ”क्‍या 11 मार्च को कमल खिलेगा” वाला सवाल हटा दिया गया लेकिन उसके फेसबुक पेज पर अब भी सबसे पहली फीचर्ड पोस्‍ट में यह सवाल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्‍वीर के साथ शाया है। फेसबुक पेज की प्रोफाइल तस्‍वीर भी प्रधानमंत्री मोदी की है जिससे साफ भ्रम पैदा होता है कि यह सरकारी पेज है।

इसी वेबसाइट के फेसबुक पेज पर 30 नवंबर को एक पोल किया गया था जिसमें लोगों से सवाल पूछा गया था, ”क्‍या मेरे द्वारा नए नोट जारी किए जाने के निर्णय से आप खुश हैं?” और साथ में प्रधानमंत्री की एक तस्‍वीर लगी हुई थी। जवाब हां, नहीं और पता नहीं के बीच से चुनना था। लोगों ने इसे वाकई सरकारी पोल समझकर अपना मत दिया है। क्‍या किसी को भी इस देश में प्रधानमंत्री की फोटो लगाकर उनकी तरफ से सर्वे करने की छूट होगी?

प्रधानमंत्री के नाम से पहले भी ऐसे फर्जीवाड़े होते रहे हैं। एस्‍सार समूह से लेकर पेटीएम तक निजी कंपनियों ने प्रधानमंत्री का चेहरा अपने विज्ञापन में इस्‍तेमाल किया है। वेव सिटी के बिल्‍डर ने प्रधानमंत्री आवास योजना के नाम का इस्‍तेमाल अमर उजाला में दिए अपने विज्ञापन में किया, जिसके खिलाफ शिकायतकर्ता अफलातून देसाई के हस्‍तक्षेप के बाद कार्रवई की गई। इस संबंध में मीडियाविजिल ने विस्‍तृत खबर छापी थी।

अब प्रधानमंत्री योजना के नाम पर ग़ाजि़याबाद में सामने आए घोटाले और pradhanmantriyojana.in नामक वेबसाइट पर सत्‍ताधारी पार्टी का चुनाव प्रचार इस बात की आशंका पैदा कर रहा है कि कहीं प्रधानमंत्री और उनकी योजनाओं के नाम का इस्‍तेमाल करने वालों के खिलाफ जानबूझ कर ढिलाई तो नहीं बरती जा रही। चुनाव आयोग को इस मामले में सख्‍ती दिखानी होगी वरना आने वाले समय में प्रधानमंत्री के नाम से और बड़ी ठगी हो सकती है।

यह भी जांच का विषय है कि सीधे प्रधानमंत्री कार्यालय ऐसे मामलों में हस्‍तक्षेप क्‍यों नहीं कर रहा। कहीं यह सत्‍ताधारी पार्टी बीजेपी की सोशल मीडिया टीम और आइटी सेल का कारनामा तो नहीं है?

 

37 COMMENTS

  1. I wish to voice my gratitude for your kind-heartedness in support of visitors who really want guidance on that situation. Your very own commitment to passing the solution all-around was exceptionally valuable and have consistently permitted most people much like me to achieve their goals. Your own warm and friendly tutorial can mean much a person like me and extremely more to my office workers. Thanks a ton; from everyone of us.

  2. I’d have to check with you here. That is not something I usually do! I enjoy reading a post that may make people believe. Also, thanks for allowing me to comment!

  3. Admiring the hard work you put into your website and detailed information you offer. It’s nice to come across a blog every once in a while that isn’t the same out of date rehashed material. Wonderful read! I’ve bookmarked your site and I’m including your RSS feeds to my Google account.

  4. Thank you for the sensible critique. Me & my neighbor were just preparing to do some research about this. We got a grab a book from our area library but I think I learned more clear from this post. I am very glad to see such magnificent information being shared freely out there.

  5. I wanted to write down a simple note to thank you for the remarkable tips and hints you are showing on this website. My particularly long internet look up has now been rewarded with good quality points to go over with my family members. I would state that that many of us website visitors are truly blessed to dwell in a wonderful community with very many brilliant individuals with very helpful principles. I feel extremely happy to have used the web pages and look forward to many more fabulous moments reading here. Thanks a lot once more for everything.

  6. Wonderful beat ! I would like to apprentice even as you amend your site, how can i subscribe for a weblog web site? The account helped me a appropriate deal. I were tiny bit familiar of this your broadcast offered shiny transparent idea

  7. Appreciating the time and effort you put into your website and in depth information you present. It’s great to come across a blog every once in a while that isn’t the same out of date rehashed information. Fantastic read! I’ve bookmarked your site and I’m including your RSS feeds to my Google account.

  8. I used to be suggested this web site by my cousin. I am now not positive whether this put up is written by means of him as nobody else understand such targeted approximately my problem. You’re amazing! Thank you!

  9. I am only writing to let you understand of the nice encounter my princess gained browsing your site. She learned plenty of details, including what it’s like to have an amazing giving nature to make many people with no trouble completely grasp specified problematic things. You actually surpassed her expectations. Thanks for producing these powerful, safe, revealing and even fun tips about that topic to Emily.

  10. I found your weblog web site on google and check a couple of of one’s early posts. Continue to preserve up the quite excellent operate. I just extra up your RSS feed to my MSN News Reader. Seeking forward to reading much more from you later on!

  11. Excellent beat ! I would like to apprentice while you amend your website, how could i subscribe for a blog site? The account aided me a acceptable deal. I had been tiny bit acquainted of this your broadcast provided bright clear idea

  12. The next time I read a blog, I hope that it doesnt disappoint me as a lot as this one. I imply, I know it was my option to learn, but I actually thought youd have one thing fascinating to say. All I hear is a bunch of whining about one thing that you could fix in case you werent too busy searching for attention.

  13. Do you mind if I quote a couple of your posts as long as I provide credit and sources back to your website? My website is in the exact same area of interest as yours and my visitors would genuinely benefit from some of the information you provide here. Please let me know if this okay with you. Many thanks!

  14. Thanks a lot for sharing this with all folks you actually realize what you are talking approximately! Bookmarked. Please also consult with my site =). We will have a hyperlink change contract between us!

  15. I used to be recommended this blog by way of my cousin. I’m now not positive whether this publish is written via him as nobody else know such special approximately my problem. You are wonderful! Thanks!

  16. This is the precise blog for anyone who wants to find out about this topic. You notice a lot its almost hard to argue with you (not that I really would need…HaHa). You definitely put a brand new spin on a topic thats been written about for years. Great stuff, just great!

  17. I discovered your blog website on google and check several of one’s early posts. Continue to preserve up the quite beneficial operate. I just further up your RSS feed to my MSN News Reader. Looking for forward to reading a lot more from you later on!

  18. Heya are using WordPress for your blog platform? I’m new to the blog world but I’m trying to get started and set up my own. Do you require any coding knowledge to make your own blog? Any help would be really appreciated!

  19. hi!,I really like your writing very so much! percentage we be in contact more about your post on AOL? I need a specialist in this area to solve my problem. May be that is you! Having a look ahead to look you.

  20. I’m impressed, I need to say. Really rarely do I encounter a weblog that’s both educative and entertaining, and let me let you know, you’ve got hit the nail on the head. Your thought is excellent; the issue is one thing that not sufficient people are speaking intelligently about. I am very pleased that I stumbled across this in my search for one thing relating to this.

  21. Someone essentially help to make severely articles I would state. This is the first time I frequented your web page and so far? I surprised with the research you made to create this particular publish extraordinary. Wonderful task!

  22. I am not sure where you’re getting your info, but good topic. I needs to spend some time learning more or understanding more. Thanks for fantastic information I was looking for this info for my mission.

  23. I’d must check with you here. Which isn’t something I often do! I get pleasure from reading a post that can make people think. Additionally, thanks for allowing me to remark!

  24. I think other site proprietors should take this web site as an model, very clean and wonderful user friendly style and design, as well as the content. You’re an expert in this topic!

  25. How dare you post this nonsense !! I am the owner of the website http://www.pradhanmantriyojana.in . What do you mean by uploading voter id on my portal.
    Main koi up it cell ka owner nahi hu jo saara database utha k apni site pe daal dunga… agar up voter list likhne se meri website upar aa rhi hai that means maine acha article likha hai. Mera article har user to official website ka link deta hai use krne ko.

    Aur jo tum keh rahe ho 11 march ko kamal khilega k nahi, wo facebook post hai aur maine apni marji se likhi hai. Kisi ke baap mein dum nahi rok k dikha sake. Tum jaise anpad aur jaahil log logon ka bewkoof bna k manghatant khabre pesh kr rahe ho. shame on u

LEAVE A REPLY