Home पड़ताल “मायावती ने मीडिया के अश्लील दबावों के सामने घुटने नहीं टेके !”

“मायावती ने मीडिया के अश्लील दबावों के सामने घुटने नहीं टेके !”

SHARE
इस चुनाव की असली और अकेली विजेता हैं मायावती

यह धारणा पुरानी और रद्दी हो चुकी है कि भारत में चुनाव चुनाव आयोग कराता है। नई धारणा और तथ्य यह है कि भारत में चुनाव न्यूज़ चैनल कराते हैं। चैनल के लोग रिटर्निंग अफसर की भूमिका में हर कार्यक्रम में किसी एक दल की जीत का एलान करते रहते हैं। चुनाव के वक्त नए नए चैनल खुल जाते हैं। नई वेबसाइट बन जाती है। इन्हें लेकर आयोग की कोई रणनीति नज़र नहीं आती है। इसलिए पारंपरिक रूप से अति महिमामंडन की शिकार इस संस्था का तरीके से मूल्यांकन होना चाहिए। चुनाव आयोग समय से पीछे चलने वाली एक पुरातन संस्था है। आयोग के पास राजनीतिक निष्ठा और भय के कारण किसी एक दल की ओर झुके मीडिया को पकड़ने का कोई तरीका नहीं है। पेड न्यूज़ की उसकी समझ सीमित है। आयोग अभी तक एग्ज़िट पोल के खेल को ही समझ पाया है। उसके पास किसी सर्वे के सैंपल जांचने या देखने की कोई समझ नहीं है। अधिकार तो तब मांगेगा जब समझ होगी। न्यूज़ एंकर पार्टी महासचिव की भूमिका में पार्टी का काम कर रहे हैं। एक दल की दिन भर पांच पांच रैली दिखाई जाती है। एक दल की एक भी रैली नहीं दिखाई जाती है। सत्ताधारी दल ने बड़ी आसानी से प्रचार के ख़र्चे और तरीके को बदल कर मीडिया को मिला लिया है। एंकर और पत्रकार अब राजनीतिक दलों के महासचिव हैं और इसमें एक दल की प्रमुखता कायम हो गई है। आयोग के पास ऐसी कोई समझ नहीं है कि वो रैलियों के प्रसारण को लेकर संतुलन कायम करने का कोई नियम बनाए। अख़बार तो आयोग से बिल्कुल ही नहीं डरते हैं। एफ आई आर के बाद भी कुछ फर्क नहीं पड़ा है। राजनीतिक दलों ने अपने ख़र्चे और रणनीति मीडिया को आउटसोर्स कर दिया है। बार्टर(वस्तु विनिमय) सिस्टम आ गया है। विज्ञापन दीजिए और उसके बदले रैली का सीधा प्रसारण घंटों दिखाइये। वो नहीं तो मीडिया घराने के खनन व्यवसाय को लाइसेंस दे दीजिए या सड़क निर्माण में ठेके।

सात चरण में चुनाव कराने की उसकी समझ का कायल हो गया हूं। मुझे दुख हो रहा है कि चुनाव जल्दी ख़त्म हो गए। इन्हें कम से कम भादो तक चलने चाहिए थे। उससे भी आगे दुर्गा पूजा तक चुनाव हो सकते थे। 403 चरणों में भी यूपी के चुनाव हो सकते थे। मैंने यह लेख चुनाव आयोग पर नहीं लिखा है। मैंने यह लेख मायावती के लिए लिखा है। इस चुनाव में वे अकेली मीडिया के बनाए एक पक्षीय माहौल के राजनीतिक दबाव से लड़ती रही हैं। पूरी दुनिया के चुनाव में मीडिया के अश्लील इस्तमाल के इस दौर में मायावती ने अपना एक और चुनाव मीडिया के बिना ही पूरा किया। यह बताता है कि उस नेता की बनावट अख़बारी पन्नों से नहीं बल्कि इस्पात के किसी प्रकार से होगी। ज़रूर बसपा ने इस बार सोशल मीडिया का इस्तमाल किया। व्हाट्स अप के लिए नए नए बैनर, वीडियो सामग्री बनाए हैं लेकिन मुख्य तौर पर बसपा ने मीडिया का बेहद संक्षिप्त और पारंपरिक इस्तमाल किया है। मायावती लखनऊ लौटकर एक प्रेस कांफ्रेंस करती थीं और बाकी समय मीडिया को दूर ही रखा। चुनाव से पहले कुछ अखबारों को इंटरव्यू तो दिया मगर टीवी को नहीं दिया। ट्वीटर को तो डूब मरना चाहिए कि वे भारत की अकेली ऐसी नेता हैं जो ट्वीट नहीं करती थीं। अपनी रैली का फोटो अपलोड नहीं कर रही थीं।

इस युग में किसी चुनावी रणनीति की कल्पना बग़ैर मीडिया के नहीं हो सकती है। मायावती ने अपने जीवन के सबसे महत्वपूर्ण चुनाव को बग़ैर मीडिया के लड़ा है। उनके लिए ऐसा करना आसान नहीं रहा होगा। कायदे से उन्हें मीडिया के लिए उपलब्ध होना चाहिए था मगर क्या यह सच नहीं है कि मीडिया बसपा को पार्टी ही नहीं मानता है। मायावती को घेरन वाले विरोधी दल टीवी के इस्तमाल से समानांतर माहौल रच रहे थे। कोई भी देखने वाला चकरा जाए कि शायद चुनाव का यही माहौल है। मायावती मीडिया की लगातार बनाई जा रही घारणाओं को नज़रअंदाज़ करती रहीं हैं। सीना फुलाने वाले अच्छे अच्छे नेता टीवी के बनाए इस माहौल में फंस जाते हैं। उनकी धुकधुकी बढ़ जाती है। कई बार माहौल बनवाकर भी वे अंत अंत तक डरे रहते हैं। अजीब अजीब हरकतें करते हैं। दो महीने के चुनाव में मायावती सामान्य बनी रही हैं। इस बात के लिए उनपर रिसर्च होनी चाहिए। इस बात के लिए भी रिसर्च होनी चाहिए कि बग़ैर घनघोर मीडिया के एक नेता आज भी अपने वोटर से और वोटर अपने नेता से कैसे संबंध बनाए रखता है। मायावती भले न दबाव में आती हों मगर वोटर तो उसी मीडिया समाज में रहता है। उस मतदाता के लिए अपने नेता के साथ खड़े रहना कम आसान नहीं रहा होगा। बसपा का कार्यकर्ता तो दस जगह उठता बैठता होगा,वो कैसे उस पार्टी के लिए काम करता होगा जो मीडिया में नज़र नहीं आती है मगर उसकी नेता चार बार मुख्यमंत्री बन चुकी हैं।

ऐसा हो नहीं सकता कि हार का डर मायावती को नहीं सताता होगा। बीच चुनाव में उन्हें नहीं लगा होगा कि सबकुछ हाथ से गया। हारने के बाद उन पर तीखे सवालों के हमले होंगे। चिंता तो होती ही होगी कि मीडिया के कारण उनकी पार्टी कमज़ोर पड़ सकती है। इस तरह की ज़रा सी ऐसी स्थिति में आप प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बर्ताव देखिये और मायावती का देखिये। हार का मामूली डर प्रधानमंत्री को किस तरह से भरभरा सकता है ये बनारस ने देखा होगा और ये भी बनारस की दिखा सकता है कि वो जिस नेता को हिन्दू ह्रदय सम्राट समझता है उसे सभासद की तरह देखने की ख़्वाहिश भी रखता है। अंतिम नतीजा जो भी निकले, तीन दिन तक प्रधानमंत्री बनारस में ऐसे अटके रहे जैसे सातवें चरण का चुनाव 40 सीटों पर नहीं, बल्कि 5 सीटों के लिए हुआ है। एक पक्ष यह हो सकता है कि प्रधानमंत्री युद्ध को युद्ध की तरह लेते हैं। हार रहे हैं तो जीतने के लिए हाथी से उतर सकते हैं। जिस दादा का टिकट काटते हैं उसी का हाथ पकड़ कर पूजा करते हैं। बीच चुनाव में भाषा और रणनीति बदल सकते हैं। बनारस इतना डरा दिया कि वे अकेले नहीं आए, बल्कि बीसों मंत्रियों को बुलाया, सांसदों को बुलाया और संपादकों को भी। अगर आपको अब भी लगता है कि प्रधानमंत्री घबराते नहीं हैं तो आपको सही लगता होगा।

इसके ठीक उलट मायावती स्थितप्रज्ञ बनी रहीं। उन्होंने समभाव को नहीं छोड़ा। चीखी चिल्लाई नहीं कि वे डूब रही हैं। बचाओ बचाओ। बसपा के सारे नेता बनारस आओ। सारे कार्यकर्ता बनारस आओ। बनारस हार गए तो सरकार नहीं बनेगी। ऐसा नहीं किया। चुनौतीपूर्ण परिस्थिति में भी वो घबराई नहीं। इसके ठीक उलट चुनाव प्रचार समाप्त होने से एक दिन प्रचार समाप्त कर लखनऊ पहुंच गईं। जो लोग नेतृत्व में साहस और धैर्य के तत्व खोजते रहते हैं उन्हें मायावती फिर भी नहीं दिखेंगी। मोदी ही दिखेंगे जो पांच सीटों की हार से घबराकर गली गली घूमने लगे। मोदी की मदद के लिए पूरा मीडिया था। घंटों सीधा प्रसारण होता रहा। कैमरों के लिए तरह तरह की छवियां बनाई गईं। पहली बार बाबा विश्वनाथ मंदिर की बनी पंरपराओं को तोड़कर पूजा के राजनीतिक स्वांग का सीधा प्रसारण किया गया। गढ़वा आश्रम जाकर गाय को फल खिलाने लगे ताकि ओबीसी मतदात झुक जाएं। ये तब हाल है जब काशी को क्योटो बनाया जा रहा है। वहां के लोग जापान का वीज़ा लेकर बनारस में टहल रहे हैं। लाल बहादुर शास्त्री मेमोरिलय तक चले गए जिसके बारे में इकोनोमिक टाइम्स के सीएल मनोज ने लिखा है कि कायस्थ मतदाताओं को प्रभावित करने के लिए गए। शास्त्री जी की जाति तक खोज ली गई।

बनारस में चैनलों ने जिस तरह से रतजगा किया है उसे देखकर एक सामान्य मतदाता की जान ही निकल जाए। ऐसे में क्या मायावती बिल्कुल नहीं घबराई होगीं? क्या उन्हें बनारस की पांच सीटें चाहिए ही नहीं? आप बनारस में किसी से बात कीजिए। हर सीट पर बसपा लड़ाई में है और कुछ सीटों पर जीतने की स्थिति में है। ये इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि बसपा वहां बग़ैर मायावती के रोड शो और मीडिया के चुनाव लड़ रही है। हो सकता है कि मायावती चुनाव हार जायें। चुनाव हारने के बाद मायावती की निर्मम आलोचना में यही सब न करने के तत्व शामिल होंगे लेकिन सोचिये कि इस चुनाव में कोई ज़िद की तरह अपनी बुनावट को बचाए रखने के लिए अपने तरीके से जीता रहा है। मेरे हिसाब से मीडिया के बनाए चुनावी माहौल की अकेली विजेता मायावती हैं। उन्होंने मीडिया के अश्लील दबावों के सामने घुटने नहीं टेके। मीडिया को न महत्व दिया और न मीडिया ने उन्हें। क्या ऐसा भारत के सबसे लोकप्रिय नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कर सकते हैं? क्या हारने की हद तक ख़ुक को किसी चुनाव में टीवी के पर्दे से दूर रहकर प्रचार कर सकते हैं, चुनाव लड़ सकते हैं। मैं इसका जवाब जानता हूं। आप भी जानते हैं। इसलिए इस सवाल पर ठहाके लगाइये। मायावती ने मीडिया को हरा दिया है। चुनाव हारने की कीमत पर वो इस लड़ाई को लड़ती रहीं और जीत गईं हैं।उन्हें जीतनी भी सीटें आएंगी, हर सीट मीडिया के ख़िलाफ़ आएगी।

रवीश कुमार

(लेखक एनडीटीवी इंडिया के सीनियर एक्ज़ीक्यूटिव एडिटर हैं। यह लेख उनके ब्लॉग कस्बा में छपा। साभार प्रकाशित) 

71 COMMENTS

  1. First of all I would like to say superb blog! I had a quick question in which I’d like to ask if you don’t mind.
    I was interested to find out how you center yourself and clear your thoughts before writing.
    I’ve had trouble clearing my mind in getting my ideas out.
    I truly do take pleasure in writing however it just seems like
    the first 10 to 15 minutes are generally lost simply just trying to
    figure out how to begin. Any ideas or hints? Many thanks!

  2. Great blog here! Also your website loads up very
    fast! What host are you using? Can I get your affiliate link
    to your host? I wish my web site loaded up as fast as yours lol

  3. I loved as much as you will receive carried out right here.
    The sketch is attractive, your authored subject matter stylish.
    nonetheless, you command get got an shakiness over that you wish be delivering the following.
    unwell unquestionably come more formerly again as exactly the same nearly a lot often inside
    case you shield this hike.

  4. May I just say what a comfort to discover an individual who
    really knows what they’re discussing on the internet.
    You definitely realize how to bring an issue to light and make it important.
    A lot more people really need to read this and understand this side of
    your story. It’s surprising you aren’t more popular
    because you surely have the gift.

  5. What i do not realize is in reality how you’re now not actually much
    more smartly-preferred than you may be now. You are
    very intelligent. You recognize thus significantly on the subject of this matter, made me
    personally believe it from numerous varied angles. Its like men and women aren’t
    interested until it is something to do with Girl gaga! Your own stuffs nice.
    At all times maintain it up!

  6. I am generally to blogging and i truly appreciate your content. The post has actually peaks my interest. I’m going to bookmark your web site and preserve checking for new data.

  7. Greetings I am so excited I found your blog, I really found you by accident, while I was searching on Yahoo for something else, Nonetheless I am here now and would just like to say thank you for a incredible post and a all round entertaining blog (I also love the theme/design), I don’t have time to read it all at the minute but I have book-marked it and also added your RSS feeds, so when I have time I will be back to read a great deal more, Please do keep up the superb job.

  8. Have you ever considered about adding a little bit more than just your articles? I mean, what you say is fundamental and everything. Nevertheless think of if you added some great visuals or videos to give your posts more, “pop”! Your content is excellent but with pics and videos, this website could undeniably be one of the best in its field. Great blog!

  9. Greetings I am so excited I found your website, I really found you by error, while I was browsing on Bing for something else, Nonetheless I am here now and would just like to say cheers for a marvelous post and a all round enjoyable blog (I also love the theme/design), I donít have time to read it all at the minute but I have saved it and also added in your RSS feeds, so when I have time I will be back to read a lot more, Please do keep up the superb work.

  10. I believe what you said made a great deal of sense.
    However, what about this? what if you were to create a killer headline?
    I am not suggesting your content isn’t solid, however suppose you added something that makes people want more?
    I mean MAYAWATI IS REAL HERO is a little boring. You should look at Yahoo’s home page and note how they create article headlines
    to grab people to click. You might try adding a video
    or a related picture or two to get readers
    interested about everything’ve got to say. In my opinion,
    it might bring your website a little bit more interesting.

  11. I have to thank you for the efforts you have put in penning
    this site. I am hoping to check out the same
    high-grade blog posts by you in the future as well. In fact, your creative
    writing abilities has encouraged me to get my own, personal website now 😉

  12. Thanks a bunch for sharing this with all of us you actually know what you’re talking approximately!
    Bookmarked. Kindly also seek advice from my web site =).
    We could have a hyperlink trade arrangement between us

  13. I seriously love your site.. Very nice colors & theme.

    Did you create this website yourself? Please reply back as I’m trying to create my
    own site and would love to know where you got this from or what
    the theme is called. Thanks!

  14. Unquestionably believe that which you stated. Your favorite justification appeared to be on the net the easiest
    thing to be aware of. I say to you, I definitely get annoyed while people think
    about worries that they plainly don’t know about.

    You managed to hit the nail upon the top as well as
    defined out the whole thing without having side effect , people could take a signal.
    Will likely be back to get more. Thanks

  15. I simply could not depart your site prior to suggesting that I really loved the usual information a person supply in your guests?
    Is gonna be back frequently to check up on new posts

  16. Thank you, I have just been looking for information approximately this subject for a long time and yours is the
    greatest I have found out till now. But, what about the bottom line?
    Are you sure in regards to the source?

  17. hello there and thank you for your information – I have definitely
    picked up something new from right here. I did however expertise a few technical issues using this website, since I
    experienced to reload the web site a lot of times previous to I could get it to load correctly.
    I had been wondering if your web hosting is OK?
    Not that I am complaining, but sluggish loading instances
    times will very frequently affect your placement in google
    and can damage your quality score if advertising and marketing with Adwords.
    Well I am adding this RSS to my e-mail and can look out for a lot
    more of your respective intriguing content.
    Make sure you update this again very soon.

  18. Do you mind if I quote a couple of your articles as long
    as I provide credit and sources back to your site?
    My blog is in the very same niche as yours and my visitors
    would truly benefit from some of the information you provide here.
    Please let me know if this ok with you. Thank you!

  19. magnificent post, very informative. I wonder why the other experts of this sector do not notice this. You must continue your writing. I’m sure, you have a huge readers’ base already!

  20. I’ve read a few excellent stuff here. Certainly worth bookmarking for revisiting. I surprise how a lot attempt you place to make any such magnificent informative website.

  21. Every weekend i used to go to see this web page, as i want enjoyment,
    for the reason that this this web site conations in fact good
    funny stuff too.

  22. What’s Happening i’m new to this, I stumbled upon this I have discovered It absolutely useful and it
    has aided me out loads. I am hoping to contribute &
    assist different customers like its aided me. Great job.

  23. I loved as much as you will receive carried out right here.
    The sketch is tasteful, your authored subject matter stylish.
    nonetheless, you command get got an nervousness over that you
    wish be delivering the following. unwell unquestionably come further formerly again as exactly the same nearly a lot often inside
    case you shield this increase.

  24. Excellent web site. Lots of useful information here.
    I am sending it to several buddies ans additionally sharing in delicious.
    And certainly, thanks to your effort!

  25. My spouse and i got absolutely more than happy Jordan managed to complete his preliminary research while using the precious recommendations he had through your web site. It’s not at all simplistic to simply choose to be handing out strategies that most people could have been trying to sell. We discover we now have the website owner to be grateful to for this. The entire illustrations you’ve made, the simple blog navigation, the friendships you will help to create – it is all fabulous, and it’s really letting our son and the family imagine that the article is cool, which is certainly extraordinarily important. Thank you for the whole thing!

  26. Greate post. Keep posting such kind of info on your blog.
    Im really impressed by it.
    Hello there, You’ve performed a fantastic job.
    I’ll definitely digg it and personally suggest to my friends.

    I am sure they’ll be benefited from this website.

  27. Pretty nice post. I simply stumbled upon your weblog and wished to mention that I have really
    loved surfing around your blog posts. In any case I will be subscribing in your rss feed and I am
    hoping you write once more very soon!

  28. I feel that is among the such a lot important info for me.

    And i’m happy reading your article. But wanna statement on some basic things,
    The web site style is wonderful, the articles is actually
    great : D. Good process, cheers

  29. I’m not sure why but this weblog is loading extremely slow for me.
    Is anyone else having this issue or is it a issue on my end?

    I’ll check back later and see if the problem still exists.

  30. I don’t even know how I ended up here, but I thought this post was great. I don’t know who you are but certainly you are going to a famous blogger if you are not already 😉 Cheers!

  31. Hello There. I found your blog using msn. This is a very well
    written article. I will be sure to bookmark it and come back
    to read more of your useful info. Thanks for the post. I will certainly comeback.

  32. Howdy! I’m at work browsing your blog from my new iphone 4!

    Just wanted to say I love reading through your blog and look
    forward to all your posts! Keep up the excellent work!

LEAVE A REPLY