Home पड़ताल मुख्यमंत्री हरीश रावत से सवाल-जवाब के बहाने TOI की धंधेबाज़ी !

मुख्यमंत्री हरीश रावत से सवाल-जवाब के बहाने TOI की धंधेबाज़ी !

SHARE

मुझे शुरू में अच्छा लगा कि उत्तराखंड के मुख्यमंत्री से फेसबुक सामाजिक मुद्दो पर अपने सदस्यों के सवालों पर उनसे जवाब मांगेगा. 18 तारीख के इस आयोजन से मन को संतोष हुआ कि जिस विपदा से हरिद्वार और इसकी पांचों पुरियों के लोग व्यथित हुए है उनकी समस्या पर शायद किसी हल की उम्मीद बने. क्योंकि बारिश की पहली फुहार ने प्रशासन की पोलपट्टी खोलदी थी.

लेकिन सवालजवाब का यह सत्र अकेले फेसबुक का नहीं था .इसमें पिछले दरवाजे से टाइम्स आफ इंडिया भी भागी दार था .सवालजवाब में सिर्फ वे सवाल मुख्यमंत्री के सामने रखे गए जिनसे उन्हें कोई बेचैनी न हो.इस काम में टाइम्स के लोग हावी रहे.

साफ था कि फेसबुक जिसे भारत में सामाजिक मुद्दों पर रोशनी डालने का माध्यम माना जाता है उसके अधिकारियों पर टाइम्स के बिजिनिस एक्जक्यूटिव्स और सरकारीअफसरान हावी रहे और महत्वपूर्ण सवाल मुख्यमंत्री के सामने रखे ही नहीं गए.

सवाल यह है कि क्या यह कार्यक्रम मुख्यमंत्री रावत की छवि बनाने का था या उन्हे जवाबदेह प्रशासक बतौर पेश करने का था .या फिर उनसे इसके जरिए सरकारी खजाने से
प्रचार विज्ञापनों को उन्हे पटा कर हा सिल करने का था.इस बात की तहकीकात सामाजिक मुद्दो पर बातचीत का मौका देने वाले फेसबुक और सिर्फ सालीग्रामी छवि बनाए रख कर हर सप्ताह करोडों कमाने में माहिर टाइम्स आफ इंडिया समूह के समर्थ मार्केटिंग बिजिनेस एक्जक्यूटिव्स से करनी चाहिए.

आपने अमेरिका में ढेरो कैटरीना टाइप बवंडरों से तबाह हुए अश्वेतो और श्वेतों की दर्द भरी दास्तान सुनी होगी.उनके बीच पहुंचे प्रेसिडेंट से फेसबुक के सवाल और उनके जवाब सुने होंगे पर 18 जुलाई को पेश मुख्यमंत्री रावत से हुई एसी बातचीत नही सुनी होगी जिसमें मुख्यमंत्री पहला वाक्य यह कहता है कि घंटेभर से ज्यादाउनके पास समय नही है.और जो सवाल पूछे जाते है वे सब सदाबहार है.

आपने सुना होगा कि किस तरह मौसम विभाग मई से ही यह बताने लगा कि इस बार औसत से ज्यादा की बारिश के आसार है.इसके महीने भर बाद से ही अखबारो मेअफसरों का बयान छपने लगे कि पूरी तैयारी है और मुकाबला जम कर होगा. तमाम नालो मे बह रही कुछ पालिथिन हटा ली गई कुछ किनारो से गाद हटी और सरकारी फाइलों मे काम संपन्न घोषित हो गया.

पहाडों पर बादल फटे.जमीनें धसकी और सारा मलबा नहरों और गंदे अस्वच्छ बदबूदार नालों और नालियों से होता हुआ पंचपुरी हरिद्वार से होता लश्कर तक 15,16 और 17 को ज्वालापुर ,कनखल हरिद्वार तक तेज करेंट के साथ सडकों से होता हुआ घरों में भरा रहा. कहीं न पु लिस थी न प्रशासन.

ज्वालापुर गुरद्वारे से ज्वालापुर रे लवे स्टेशन तक सारी सडकों पर घुटनों से ऊपर तक पानी हिलोर मार रहा था.ज्वालापुर अल्पसंख्यकों का इलाका है वहां सुरक्षा के लिहाज से भी एसी विपदा से बचाव जरूरी था पर कागजों मे तो सफाई हो चुकी थी.लगभग तीन दिन इस पहली बारिश में बुजुर्ग युवा और बच्चे बदबू झेलते रहे घरों मे.

हरीश भाई इतने दिन बाद भी मुख्यमंत्री की कुर्सी संभालने में जुटे है. आज भी विजयोल्लास उनके चे हरे पर है इसी के चलते अफसरशाही उन पर हावी है. इसी का लाभ लेते हुए टाइम्स ने फेसबुक के सोशल हैंडल से बडा लेनदेन कर अप ना उल्लू साधा.इसीलिए एसे सवाल नही पूछे गए जो जनता के लिहाज से जरूरी थे. जनता चाहे पहाड पर हो या मैदान मे चापलूस अफसरशाही के चलते भुगत रही थी. इसी तरह विभिन्न आयवर्ग के लाखों तीर्थयात्री इन दिनों में ज्वा लापुर हरिद्वार के रौरव नरक से किसी तरह ज्वालापुर के रोशनीविहीन रेलवे स्टेशन पर पहचे.वहा मसूरी एकस्प्रेस का 1ए श्रेणी का टीटी उनकी तकलीफ पर नमक छिडकते हुए कह रहा था हम तो इस कोच को यहां खोलते नही.यही प्रभुइच्छा है.यह देश हमारा……..

अब जरूरी है कि सामाजिक मुद्दो पर बात के बहाने कमाई करने वाले कथित टाइम्स आफ इंडिया की पत्रकारिता को खारिज किया जाए.इसी तरह फेसबुक के अफसरों की एसी चालों का विरोध किया जाए क्योकि इस तरह के स्वांग से यह भले लोगों के मन में दरार डालते है.

AMIT P SINGH

 

 

 

 

अमित प्रकाश सिंह

(लेखक वरिष्ठ पत्रकार हैं।)

21 COMMENTS

  1. Hmm is anyone else having problems with the pictures on this blog loading? I’m trying to find out if its a problem on my end or if it’s the blog. Any suggestions would be greatly appreciated.

  2. I feel this is one of the most significant info for me. And i’m satisfied studying your article. However wanna remark on few normal issues, The site style is perfect, the articles is truly nice : D. Just right task, cheers

  3. This is the suitable blog for anyone who needs to search out out about this topic. You understand a lot its nearly laborious to argue with you (not that I really would need…HaHa). You undoubtedly put a new spin on a subject thats been written about for years. Nice stuff, simply nice!

  4. Hey! I know this is kinda off topic nevertheless I’d figured I’d ask. Would you be interested in exchanging links or maybe guest writing a blog article or vice-versa? My website goes over a lot of the same subjects as yours and I feel we could greatly benefit from each other. If you are interested feel free to shoot me an e-mail. I look forward to hearing from you! Superb blog by the way!

  5. Its like you read my mind! You seem to know a lot about this, like you wrote the book in it or something. I think that you could do with a few pics to drive the message home a little bit, but instead of that, this is magnificent blog. A great read. I will certainly be back.

  6. Good post. I learn one thing more difficult on completely different blogs everyday. It will at all times be stimulating to read content from different writers and follow a little something from their store. I’d desire to make use of some with the content material on my blog whether or not you don’t mind. Natually I’ll offer you a hyperlink in your net blog. Thanks for sharing.

  7. I’m not sure where you’re getting your information, but good topic. I needs to spend some time learning much more or understanding more. Thanks for wonderful info I was looking for this info for my mission.

  8. I simply want to tell you that I am just beginner to weblog and really loved you’re blog. Almost certainly I’m want to bookmark your blog post . You amazingly come with amazing writings. Cheers for revealing your website page.

  9. The following time I learn a weblog, I hope that it doesnt disappoint me as a lot as this one. I mean, I do know it was my option to read, but I actually thought youd have one thing interesting to say. All I hear is a bunch of whining about something that you would fix for those who werent too busy on the lookout for attention.

  10. Oh my goodness! an incredible article dude. Thank you Having said that I’m experiencing issue with ur rss . Do not know why Unable to subscribe to it. Is there anyone finding identical rss problem? Anybody who knows kindly respond.

  11. Thank you for the auspicious writeup. It if truth be told was a amusement account it. Look advanced to more introduced agreeable from you! By the way, how could we keep in touch?

  12. I discovered your weblog web page on google and check a number of of one’s early posts. Continue to preserve up the really excellent operate. I just additional up your RSS feed to my MSN News Reader. Seeking forward to reading extra from you later on!

  13. I really like your blog.. very nice colors & theme. Did you create this website yourself or did you hire someone to do it for you? Plz respond as I’m looking to construct my own blog and would like to know where u got this from. cheers

  14. I like the helpful information you provide in your articles. I’ll bookmark your blog and check again here regularly. I am quite sure I will learn a lot of new stuff right here! Good luck for the next!

  15. I do enjoy the manner in which you have framed this specific challenge plus it does present me some fodder for consideration. Nevertheless, from what I have experienced, I basically hope when other responses pile on that men and women continue to be on point and not embark on a tirade regarding the news of the day. Yet, thank you for this superb point and while I do not concur with the idea in totality, I respect the viewpoint.

  16. What’s Taking place i’m new to this, I stumbled upon this I’ve discovered It absolutely helpful and it has helped me out loads. I am hoping to give a contribution & help different users like its aided me. Good job.

  17. Olá bom dia, gostaria de saber se o valor do Taxi aeroporto internacional de Miami até South Beach _Grand Beach Hotel é realmente 40 dolares? Porque em não sendo verdade é melhor contratar um transfer cujo valor é 80 dolares.

LEAVE A REPLY