Home लोकसभा चुनाव 2019 प्रज्ञा ठाकुर हिंदू संस्‍कृति का प्रतीक, जस्टिस लोया की कहानी कांग्रेसी स्क्रिप्‍ट:...

प्रज्ञा ठाकुर हिंदू संस्‍कृति का प्रतीक, जस्टिस लोया की कहानी कांग्रेसी स्क्रिप्‍ट: PM

SHARE

पहली बार जब सीबीआइ के विशेष जज जस्टिस बीएच लोया की संदिग्‍ध परिस्थितियों में हुई मौत की कहानी कारवां पत्रिका में छपी थी, तब से लेकर अब तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मसले पर एक शब्‍द भी नहीं बोला है। शुक्रवार को अपनी चुप्‍पी आखिरकार उन्‍होंने तोड़ दी औरलोया की मौत को “नैचुरल’’ बताते हुए पूरी कहानी को कांग्रेसी पटकथा करार दिया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहली बार दो ऐसे मुद्दों पर अपना मुंह खोला जिनमें एक पर वे दो दिन से और दूसरे पर दो साल से चुप थे। निजी टीवी चैनल टाइम्‍स नाउ को एक इंटरव्‍यू देते हुए वे प्रज्ञा ठाकुर की उम्‍मीदवारी पर हुए विवाद का जवाब दे रहे थे।

प्रज्ञा ठाकुर की उम्‍मीदवारी पर उन्‍होंने 1984 में इंदिरा गांधी की हत्‍या के बाद हुए सिखों के कत्‍लेआम का हवाला देते हुए कहा कि इस कांड के दोषी बाद में सांसद बने और उनमें एक आज मध्‍यप्रदेश का मुख्‍यमंत्री बना हुआ है, तब तो मीडिया ने उनसे ये सवाल नहीं पूछा। उन्‍होंने कहा कि अमेठी का प्रत्‍याशी ज़मानत पर है, रायबरेली का प्रत्‍याशी ज़मानत पर है लेकिन मीडिया भोपाल के प्रत्‍याशी को मुद्दा बना रहा है।

हिंदू संस्‍कृति की महानता को गिनाते हुए उन्‍होंने  साफ़ कहा कि प्रज्ञा ठाकुर की उम्‍मीदवारी कांग्रेस को भारी पड़ने वाली है।

इसी क्रम में उन्‍होंने बताया कि गुजरात में रहते हुए उन्‍होंने कांग्रेस का मोडस ऑपरेंडी देखा है। वे बोले कि कांग्रेस पहले एक घटना की स्क्रिप्‍ट बनाती है, फिर एक खलनायक खोजती है, उसमें हीरो-हीरोइन भरती है और रंग भर देती है। इस संदर्भ में उन्‍नहोंने दो साल में पहली बार जस्टिस बीएस लोया की संदिग्‍ध परिस्थितियों में हुई मौत पर अपनी ज़बान खोली और कहा कि जस्टिस लोया की मौत ‘’नैचुरल’’ हुई थी लेकिन उसे हत्‍या बताना कांग्रेस की स्क्रिप्‍ट थी।

इसी स्क्रिप्‍ट के नाम पर उन्‍होंने नोटबंदी पर कांग्रेस के खुलासे से लेकर तमाम मुद्दों को लपेट दिया।

देखिए टाइम्‍स नाउ का वह वीडियो

4 COMMENTS

  1. एक चीफ जस्टिस आफ इंडिया ने तो मोदी के ऊपर गुजरात दंगों में मुकदमा चलाने की राय दी थी।
    गोडसे के बारे में क्या ख्याल है

  2. गुजरात फाइल्स किताब पढी ? अब तो हिंदी में भी है।
    लेखिका राणा अय्यूब। सस्ती किताब है।

  3. हरमीस बोहेमियन …… मानव-सभ्यता के सबसे क्रूरतम हत्यारे की हँसी
    अय्याश आततायी की सौम्यता
    और धूर्ततम चोर के आँसू
    एक उचित और निश्चित मात्रा में मिलाने से क्ष
    तैयार होती है उसकी शक्ल

    वह खाने में दंगा पसंद करता है
    और पीने में विरोधियों का लहू
    यूँ तो वह भय का खेल खेलता है
    पर हत्या और गद्दारी उसके मुख्य शौक हैं

    उसकी उपस्थिति से मुझे लाखों मनुष्यों
    के जलने की चीख और दुर्गंध आती है

    उसकी भाषा इतनी गिर चुकी है कि
    शब्दों को घिन्न आती है उसकी ज़ुबान तक जाने में

    मैंने उसे एक दिन संसद की छत पर टहलते देखा था
    उसकी देह पर कपड़े तो थे
    पर वो नंगा दिख रहा था
    उसकी देह हजार हत्याओं के खून से सनी हुई थी

    उसने एक दिन मुझे बताया था कि
    देश उसके सपने में भेड़ की शक्ल में आता है
    जिसे वह सवेरा होने के पहले ही
    भूनकर खा जाता है

    काफी मुमकिन है कुछ और भी लोग जानते हों उसे
    और मेरी तरह उन्हें भी ताज़िन्दगी
    इस बात का अफसोस रहे
    कि मैं एक ऐसे भी प्रधानमंत्री को जानता हूँ।

    • Bahot log jante hain usey,
      Aur afsosh bhi karte hain…

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.