Home आयोजन छह दशक के प्रतिष्ठित इतिहास में पहली बार आकाशवाणी पर पेश है...

छह दशक के प्रतिष्ठित इतिहास में पहली बार आकाशवाणी पर पेश है सरदार पटेल ‘स्‍मृति’ व्‍याख्‍यान!

SHARE

सरदार वल्‍लभभाई पटेल की स्‍मृति में आकाशवाणी पर हर साल उनके जन्‍मदिवस पर दिया जाने वाला व्‍याख्‍यान इस बार केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्‍मृति ईरानी देंगी। यह व्‍याख्‍यान देश के सबसे पुराने और प्रतिष्ठित व्‍याख्‍यानों में से है जिसकी शुरुआत 1955 में की गई थी जब पहला व्‍याख्‍यान श्री सी. राजगोपालाचारी ने दिया था जिसका विषय था ”दि गुड एडमिनिस्‍ट्रेटर”।

सरदार पटेल के जन्‍मदिवस 31 अक्‍टूबर को आकाशवाणी पर प्रसारित होने वाला यह व्‍याख्‍यान देने वालों में पिछले 62 वर्षों के समृद्ध इतिहास में ऐसे नाम शामिल रहे हैं जो अपने-अपने क्षेत्र के बौद्धिक दिग्‍गज हैं। राजगोपालाचारी के बाद डॉ. ज़ाकिर हुसैन, 1971 में प्रो. रोमिला थापर, 1998 में डॉ. एपीजे अब्‍दुल कलाम, 2000 में जस्टिस लीला सेठ, 2007 में प्रो. विपन चंद्रा जैसे विद्वानों ने अलग-अलग विषयों पर यह सालाना व्‍याख्‍यान दिया है।

87db54f90f664cb886ea999f782c00a5SARDARPATELMEMORIALLECTURE

केंद्र में बीजेपी की बहुमत वाली सरकार आने के बाद पहला व्‍याख्‍यान 2014 में पत्रकार और पूर्व राज्‍यसभा सांसद चंदन मित्रा ने दिया था, जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चुनाव प्रचार अभियान में बहुत सक्रिय थे। इसके बाद 2015 में केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने यह व्‍याख्‍यान दिया और पिछले साल केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने व्‍याख्‍यान दिया।

कुल 62 वर्षों के इतिहास में केवल दो महिलाओं ने सरदार पटेल व्‍याख्‍यान दिया है- 1971 में प्रो. रोमिला थापर और 2000 में जस्टिस लीला सेठ। सरदार पटेल व्‍याख्‍यान की परंपरा में इस साल स्‍मृति ईरानी इस दने वाली तीसरी महिला होंगी।

LEAVE A REPLY