Home आयोजन दंगाई मीडिया भारत छोड़ो ! अगस्त क्रांति दिवस पर लखनऊ में गूँजा...

दंगाई मीडिया भारत छोड़ो ! अगस्त क्रांति दिवस पर लखनऊ में गूँजा ‘3C मीडिया-क्विट इंडिया’ का नारा !

SHARE

तीन ‘सी ‘ यानी कार्पोरेट, कास्टिस्ट और कम्युनल.. अगर मीडिया इन तीनों के रंग में रँगा है तो कहेंगे ‘3C मीडिया’। मीडिया के इस रूप ने उसकी साख को बुरी तरह कमज़ोर किया है। जनता कभी अख़बारों में छपे शब्दों को पवित्र मानती थी और न्यूज़ चैनलों  पर आँख मूँदकर भरोसा करती थी, लेकिन अब खुलकर मीडिया को धंधा और पत्रकारों को दलाल बता रही है। 9 अगस्त, यानी अगस्त क्रांति की बरसी पर लखनऊ में गाँधी प्रतिमा पर इस 3C मीडिया को भारत से भगाने के लिए धरना दिया गया। धरने का आयोजन रिहाई मंच ने किया था जो मानवाधिकारों के सवालों पर ख़ासा सक्रिय है। पढ़िये, धरने के संबंध में रिहाई मंच की प्रेस रिलीज़— 

काॅर्पोरेट,जातिवादी और सांप्रदायिक मीडिया देश की एकता के लिए ख़तरा-रिहाई मंच

 

काॅर्पाेरेट,जातिवादी और साम्प्रदायिक मीडिया का बहिष्कार ही असली राष्ट्रवादी पत्रकारिता है- अभिषेक श्रीवास्तव

 

लखनऊ, 09 अगस्त 2016। ऐतिहासिक भारत छोड़ो आंदोलन की 75वीं बरसी पर रिहाई मंच द्वारा कार्पोरेट, सांप्रदायिक और जातिवादी मीडिया के खिलाफ मंगलवार को लखनऊ के हजरतगंज स्थित गांधी प्रतिमा पर धरना दिया गया।

काॅरर्पोरेट, कास्टिस्ट एंड कम्यूनल मीडिया ’क्विट इंडिया’ नारे से दिए गए इस धरने को संबोधित करते हुए रिहाई मंच प्रवक्ता शाहनवाज आलम ने कहा कि आज हमारा मीडिया जिस तरह से फासीवादी ताकतों के पैरों में लोट रहा है वो समाज की एकता के लिए गंभीर खतरा है। उन्होंने कहा कि देश के विभिन्न अस्मिताओं वाले बहुरंगी समाज में गरीबों, अल्पसंख्यकों और दलितों पर जिस तरह संघ के लंपट-गुंडों द्वारा लगातार हमले किए जा रहे हैं, वो देश की एकता और सामाजिक ताने बाने के लिए खतरा है। उनका महिमामंडन सांप्रदायिक मीडिया द्वारा किया जा रहा है। शाहनवाज आलम ने कहा कि हिन्दू राष्ट्र की संघी संकल्पना में दलितों, गरीबों और अल्पसंख्यकों के लिए कोई जगह नहीं है। चुंकि देश में मीडिया घरानों के भीतर ब्राहम्णवाद का बोल-बाला है इसलिए बीफ के नाम पर दलितों, अल्पसंख्यकों के खिलाफ हालिया हिंसा मीडिया घरानों के विमर्श का हिस्सा नहीं बनी।

धरने को संबोधित करते हुए दिल्ली से आए पत्रकार अभिषेक श्रीवास्तव ने कहा कि कार्पोरेट मीडिया में आम आदमी, दलितों और अल्पसंख्यकों की खबरें गायब हो गई हैं। मीडिया फासीवादी ताकतों का स्वयं-भू प्रवक्ता बन गया है। इसलिए एक नागरिक के बतौर हम सबकी जिम्मेदारी बनती है कि फासीवाद की प्रवक्ता देश विरोधी कार्पोरेट और जातिवादी मीडिया के खिलाफ एक सशक्त आवाज बुलंद की जाए। आज का मीडिया खबरें छोड़ सब कुछ दिखाता है। उसका अपना वर्ग चरित्र जन विरोधी है। उन्होंने विस्तार से बताया कि किस तरह से नीरा राडिया केस में कई पत्रकारों ने दलाली खाई थी। अभिषेक श्रीवास्तव ने जोर देकर कहा कि हमें आम जन की आवाज बनने वाला, उनकी खबरें दिखाने वाला एक वैकल्पिक मीडिया समूह खड़ा करना होगा। इसमें सोशल मीडिया हमारी सबसे बड़ी ताकत बनने जा रही है। उन्होंने कहा कि काॅरपोरेट, जातीवादी और साम्प्रदायिक मीडिया का विरोध करना सच्ची देश भक्ति है।

quit india 1

शरद जायसवाल ने कहा कि देश के कई समाचार पत्र आज अल्पसंख्यकों के खिलाफ मैराथन दुष्प्रचार में संलग्न हैं। उन्होंने मुजफ्फरनगर सांप्रदायिक हिंसा के दौरान कई समाचार पत्रों, चैनलों की भूमिका का जिक्र करते हुए बताया कि किस तरह से उनके द्वारा हिंसा के दौरान अल्पसंख्यकों के खिलाफ हिंसक भीड़ को उकसाया जाता था, फर्जी खबरें गढ़ी जाती थीं। उन्होंने कहा कि अगर व्यवस्था में राजनैतिक व्यक्तियों की जिम्मेदारी तय होती है तो फिर मीडिया की जिम्मेदारी भी तय होनी चाहिए।

रिहाई मंच लखनऊ यूनिट के महासाचिव शकील कुरैशी ने कहा कि काॅर्पोरेट मीडिया का पूरा विमर्श फासीवाद और सांप्रदायिकता को भारत के भविष्य के रूप में प्रचारित करने में लगा है। कार्पोरेट और मल्टीनेशनल के हितों के लिए आदिवासियों पर किए जा रहे हिंसक दमन को वह छिपाता है। आजकल राजनीतिक और औद्योगिक घराने खबरों को दिखाने के बजाए खबरों को छुपाने के लिए मीडिया में निवेश कर रहे हैं। प्रतीक सरकार ने कहा कि मुसलमानों के धार्मिक झंडे को एक चैनल ने पाकिस्तानी झंडा बताकर बिहार में मुसलमानों के खिलाफ माहौल बना दिया लेकिन उसके खिलाफ कोई कार्रवाई तक नहीं हुई। आरिफ मासूमी ने मीडिया के के लिए आचार संघिता की बनाने की मांग की। रूपेश पाठक ने कहा कि मीडिया पर कुछ ही घरानों का कब्जा लोकतंत्र की मूल भावना के खिलाफ है। लोकतंत्र विचारों की विभिन्नता पर आधारित है लेकिन जनमत बनाने वाली मीडिया में अब वैचारिक भिन्नता का गला घांेट दिया गया है। असहमत लोगों और विचारों को अब मीडिया देशविरोधी बताने लगा है।

quit india 2

धरने का संचालन अनिल यादव ने किया। इस मौके पर आदियोग, लालचंद, केके वत्स, मोहम्मद तारिक, मोहम्मद मसूद, एमके सिंह, कमर सीतापूरी, श्याम अंकुरम, मकसूद अहमद, मोहम्मद सुलेमान, कल्पना पांडेय, देवी दत्त पांडेय, अरविंद कुशवाहा, ज्याति राय, केके शुक्ला, शाहरूख अहमद, तनवीर मिर्जा, अमित मिश्रा, यावर अब्बास, शशांक लाल, बाबू मोहम्मद, अली, रूपेश पाठक, मोहम्मद इमरान खान, हसन, उषा विश्वकर्मा, रफीउद्दीन खान, हादी खान, अब्दुल वाहिद,नुसरत जमाल, मोहसिन एहसान, लक्ष्मण प्रसाद, नाजिम, आलोक, शबरोज मोहम्मदी, राॅबिन वर्मा, आशीष अवस्थी, रामकृष्ण, विरेंद्र गुप्ता, धनंजय चैधरी, आरिफ मासूमी आदि मौजूद रहे।

द्वारा जारी-

अनिल यादव

(प्रवक्ता, रिहाई मंच लखनऊ)

9454292339

25 COMMENTS

  1. Hi, i feel that i noticed you visited my weblog so i got
    here to go back the choose?.I am trying to to find things to enhance my web site!I guess
    its good enough to make use of some of your ideas!!

  2. You could certainly see your skills in the paintings you write. The sector hopes for more passionate writers such as you who aren’t afraid to mention how they believe. At all times go after your heart.

  3. Just want to say your article is as astounding. The clarity to your publish is just cool and i can think you are knowledgeable on this subject. Well with your permission allow me to grasp your RSS feed to keep up to date with forthcoming post. Thanks 1,000,000 and please carry on the rewarding work.

  4. This is very interesting, You’re a very skilled blogger. I have joined your rss feed and look forward to seeking more of your excellent post. Also, I have shared your web site in my social networks!

  5. Pretty component to content. I simply stumbled upon your web site and in accession capital to claim that I acquire actually loved account your weblog posts. Any way I’ll be subscribing on your augment and even I achievement you get entry to constantly rapidly.

  6. I have been surfing online greater than 3 hours these days, but I by no means found any fascinating article like yours. It is beautiful worth enough for me. In my opinion, if all website owners and bloggers made excellent content material as you did, the internet will likely be much more helpful than ever before.

  7. Wow that was strange. I just wrote an extremely long comment but after I clicked submit my comment didn’t show up. Grrrr… well I’m not writing all that over again. Regardless, just wanted to say excellent blog!

  8. Hi there just wanted to stop by. The words in your post seem to be running off the screen in Internet explorer. I’m not sure if this is a format issue or something to do with web browser compatibility but I thought I’d say this to let you know. The layout look great though! Hope you get the problem resolved soon. Many thanks!

  9. Thanks for sharing excellent informations. Your website is very cool. I am impressed by the details that you’ve on this website. It reveals how nicely you perceive this subject. Bookmarked this web page, will come back for extra articles. You, my friend, ROCK! I found simply the info I already searched everywhere and simply could not come across. What an ideal site.

  10. I’m very happy to read this. This is the kind of manual that needs to be given and not the random misinformation that is at the other blogs. Appreciate your sharing this greatest doc.

  11. Good blog! I really love how it is simple on my eyes and the data are well written. I’m wondering how I could be notified when a new post has been made. I’ve subscribed to your RSS feed which must do the trick! Have a great day!

  12. I have read some good stuff here. Definitely worth bookmarking for revisiting. I wonder how much effort you put to make such a magnificent informative website.

  13. You made some respectable factors there. I looked on the internet for the issue and located most people will go together with with your website.

  14. Oh my goodness! an amazing article dude. Thank you However I am experiencing concern with ur rss . Don’t know why Unable to subscribe to it. Is there anybody getting identical rss downside? Anybody who knows kindly respond. Thnkx

  15. I’ve been surfing online more than three hours as of late, but I never found any attention-grabbing article like yours. It’s lovely price enough for me. In my opinion, if all website owners and bloggers made good content as you did, the internet will likely be a lot more helpful than ever before.

  16. Magnificent beat ! I wish to apprentice while you amend your web site, how can i subscribe for a blog web site? The account aided me a acceptable deal. I had been a little bit acquainted of this your broadcast offered bright clear concept

  17. This is really interesting, You are a very skilled blogger. I’ve joined your feed and look forward to seeking more of your great post. Also, I have shared your web site in my social networks!

  18. Can I just say what a reduction to search out someone who really knows what theyre speaking about on the internet. You definitely know how you can convey an issue to mild and make it important. More people must read this and understand this aspect of the story. I cant consider youre not more fashionable because you positively have the gift.

  19. whoah this blog is magnificent i love reading your posts. Keep up the good work! You know, many people are searching around for this information, you can aid them greatly.

LEAVE A REPLY