Home दस्तावेज़ Exclusive: चुनावी जीत-हार के पार जनता के असली पहरेदार, जो अब भी...

Exclusive: चुनावी जीत-हार के पार जनता के असली पहरेदार, जो अब भी मैदान में डटे हैं!

SHARE
अभिषेक श्रीवास्‍तव

दुनिया की हर जंग किसी की हार और किसी की जीत पर खत्‍म होती है। चुनावी जंग की खासियत यह है कि इसमें जीतने और हारने वाले दोनों पक्षों पर बात होती है। बाकी संघर्षों में ऐसा कम होता है। चुनाव में हालांकि पक्ष एकाधिक होते हैं इसलिए मुख्‍य पक्ष और विपक्ष तक ही बात टिक जाती है। जीत और हार के बीच एक बहुत चौड़ी पट्टी होती है जहां ढेरों चेहरे बिखरे होते हैं। इन पर कभी बात नहीं होती। ये लोग कौन हैं, कहां से आए थे, कहां गए, क्‍यों लड़े, लड़ने के बाद क्‍या कर रहे हैं और लड़ने से पहले क्‍या कर रहे थे, ये कहानियां हमें कोई नहीं बताता।

अभी-अभी बीते पांच राज्‍यों के विधानसभा चुनावों में कुल 690 सीटों पर हज़ारों प्रत्‍याशी खड़े थे लेकिन खोजने पर भी हम पाते हैं कि एक सीट पर दो या ज्‍यादा से ज्‍यादा तीन प्रतिद्वंद्वियों के नाम ही सार्वजनिक हैं। जिन्‍हें हजार, पांच सौ या दहाई में वोट मिले उन पर किसी की जिज्ञासा पैदा नहीं होती कि वे कौन लोग थे और क्‍यों लड़े? चुनाव नतीजों के बाद केवल एक नाम पर चर्चा होती रही जिसे सब पहले से जानते थे- इरोम शर्मिला। 16 साल का अनशन बनाम 90 वोट- इसी तर्ज पर बातें हो रही हैं।

हार के बाद इरोम ने राजनीति से संन्‍यास ले लिया है। ये गलत है या सही, यह उनका अपना फैसला है लेकिन इस देश के रोम-रोम में हज़ारों इरोम बसे हैं जो आज भी मुट्ठी भर वोट पाने के बाद धूप में अपना बदन जनता के लिए जला रहे हैं।

एक काले कानून के खिलाफ़ जंग की तुलना क्‍या पैसे से होने वाले चुनाव में मिलने वाले वोटों से की जानी चाहिए? क्‍या लोकतंत्र महज पांचसाला चुनाव में आने वाले नतीजों से तय होगा? जीत और हार से इतर बड़ी संख्‍या ऐसे लोगों की है जो लड़ रहे हैं। अपनी लड़ाई में वे रणनीतियां बदलते हैं। कभी अनशन करते हैं, कभी परचे बांटते हैं, कभी लाठी खाते हैं तो कभी चुनाव लड़ते हैं। ये सब व्‍यवस्‍था परिवर्तन के अलग-अलग रास्‍ते भर हैं। जैसे किसी बीमार का तीमारदार दवा से लेकर दुआ तक हर कुछ आज़माता है ताकि बीमारी दूर चली जाए।

हमारा समाज बीमार है। इस बीमारी से कुछ लोग लड़ रहे हैं। चुनाव में उनकी पूछ अगर नहीं होती, तो यह अपने आप में इस बात का सबूत है कि चुनाव बीमारी का इलाज कतई नहीं है। शायद यही वजह है इरोम शर्मिला से केवल आठ वोट ज्‍यादा पाने वाले पंकज कुमार वोट मांगने के चक्‍कर में ही नहीं पड़े।

मीडियाविजिल अपने पाठकों को ऐसे ही कुछ प्रत्‍याशियों से मिलवा रहा है, जिनके संघर्षों का रंग गली-चौराहों में बिखरा पड़ा है लेकिन मुख्‍यधारा के मीडिया की ज़बान पर केवल केसरिया लड्डू का स्‍वाद चढ़ा हुआ है और जिसकी आंखों को मोदियाबिंद की घातक बीमारी ने जकड़ रखा है।


उत्‍तराखण्‍ड की बीएचईएल रानीपुर विधानसभा से इंकलाबी मज़दूर केंद्र समर्थित प्रत्‍याशी पंकज कुमार को केवल 98 वोट मिले हैं। यह अपने आप में आश्‍चर्य की बात है क्‍योंकि पंकज अपने चुनाव प्रचार अभियान में यह कहते घूम रहे थे कि चुनाव धोखा है। लाल झंडों और बैनरों से पटे उनके चुनाव प्रचार अभियान में लगातार एक ही बात कही जा रही थी कि मजदूरों की मुक्ति समाजवाद में मुमकिन है, पूंजीवाद में नहीं। आइए, इस अद्भुत प्रत्‍याशी का चुनाव प्रचार में दिया भाषण सुनते हैं।

पंकज की ही तरह उत्‍तराखण्‍ड से प्रभात ध्‍यानी की उम्‍मीदवारी रही। प्रभात ध्‍यानी उत्‍तराखण्‍ड परिवर्तन पार्टी के महासचिव हैं। दो साल पहले बुक्‍सा जनजाति के एक गांव में लगे क्रेशरों का विरोध करने पर कांग्रेस सरकार स‍मर्थित स्‍थानीय गुंडों ने इनके ऊपर हमला करवा दिया था जिसमें प्रभात और इनके साथी मुनीश कुमार को गहरी चोट आई थी। उत्‍तराखण्‍ड परिवर्तन पार्टी के प्रत्‍याशी प्रभात ध्‍यानी को केवल 1229 वोट मिले हैं, लेकिन व्‍यवस्‍था परिवर्तन की इनकी जंग जारी है।

उत्‍तराखण्‍ड परिवर्तन पार्टी ने नौ सीटों पर अपने उम्‍मीदवार खड़े किए थे। पार्टी पिछले तीन साल से पीसी तिवारी की अगुवाई में चुनावों में उतरने की तैयारी में जुटी हुई थी। नानीसार में बन रहे जिंदल के अंतरराष्‍ट्रीय स्‍कूल के खिलाफ ऐतिहासिक आंदोलन में पीसी तिवारी और अन्‍य की गिरफ्तारी व लंबे समय तक चले संघर्ष ने पार्टी को मज़बूती से लोगों के बीच स्‍थापित कर दिया था। विडंबना यह रही कि पार्टी सोमेश्‍वर की विधानसभा सीट से ही प्रत्‍याशी नहीं उतार सकी जिसके अंतर्गत नानीसार आता है।

एक और समस्‍या यह हुई कि उत्‍तराखण्‍ड परिवर्तन पार्टी, उत्‍तराखण्‍ड क्रांति दल और वामपंथी दलों के बीच कोई कारगर साझा गठबंधन नहीं बन सका। ये बात अलग है कि एक-दूसरे की सीटों पर जाकर इन पार्टियों के नेताओं ने प्रचार में मदद बेशक की, लेकिन चुनाव परिणाम आने के बाद इनके बीच खटास कम होने के बजाय बढ़ी ही है।

उत्‍तराखण्‍ड की कर्णप्रयाग सीट से जनवादी राजनीति को काफी उम्‍मीदें थीं। यहां सिलिंडर के निशान पर भारतीय कम्‍युनिस्‍ट पार्टी (माले) से लोकप्रिय नेता इंद्रेश मैखुरी चुनाव में खड़े थे। कर्णप्रयाग का चुनाव एक प्रत्‍याशी की मौत के कारण रद्द हो गया था और 9 मार्च को हुआ। नतीजा चौंकाने वाला रहा क्‍योंकि इंद्रेश को केवल 1331 वोट मिले, लेकिन नौ प्रत्‍याशियों के बीच वे तीसरे स्‍थान पर रहे।

दिलचस्‍प है कि भाजपा प्रत्‍याशी सुरेंद्र सिंह नेगी को 28159 वोट मिले, कांग्रेस प्रत्‍याशी अनसुया प्रसाद मैखुरी को 20610 वोट मिले और उसके बाद सीधे इंद्रेश मैखुरी का नंबर था। इंद्रेश ने उत्‍तराखण्‍ड क्रांति दल और बहुजन समाज पार्टी को भी पीछे छोड़ दिया। कर्णप्रयाग की लड़ाई को देखकर एक बात समझ में आती है कि भाजपा और कांग्रेस के सम्मिलित विकल्‍प के तौर पर आज भी वामपंथी दलों के उभरने की गुंजाइश बनी हुई है। सवाल केवल अपने नारे को लोगों के बीच ले जाने के तौर-तरीकों का है। इंद्रेश के प्रचार में उत्‍तराखण्‍ड परिवर्तन पार्टी ने भी हिस्‍सा लिया।

देखिए इंद्रेश मैखुरी के प्रचार का एक वीडियो:

वामपंथी दलों के प्रत्‍याशियों की विडम्‍बनाएं हालांकि कम नहीं हैं। कहा गया था कि उत्‍तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में वाम दलों ने मिलकर एक मोर्चा बनाया है, लेकिन कुछ सीटों पर इसका ठीक उलटा देखने को मिला जहां भाकपा और भाकपा(माले) के प्रत्‍याशी एक-दूसरे के आमने-सामने लड़ रहे थे। ग़ाज़ीपुर के मोहम्‍मदाबाद में यह लड़ाई काफी दिलचस्‍प थी जहां चौथे स्‍थान पर रहे भाकपा के प्रत्‍याशी सुरेंद्र को 2503 वोट मिले जबकि भाकपा(माले) के सग़ीर को 565 वोटों से संतुष्‍ट होना पड़ा।

सग़ीर भाई भाकपा के प्रत्‍याशी को लेकर काफी नाखुश थे। एक स्‍थानीय पत्रकार के हवाले से उनका आरोप था कि भाकपा के प्रत्‍याशी ने पैसे देकर टिकट खरीदा है। यह बात अपने आप में चाहे जितनी भी हास्‍यास्‍पद क्‍यों न रही हो, लेकिन सग़ीर का आत्‍मविश्‍वास देखने लायक था। वे गांव-गांव घूमकर एक ही बात कह रहे थे, कि भाजपा और बसपा दोनों के ही प्रत्‍याशी सामंत हैं और असली लड़ाई इन सामंतों से मुक्ति की है।


सग़ीर कहते हैं, ‘’हम अपना चुनाव सामंत विरोधी आंदोलन पर टिकाए हुए हैं। अलका राय और सिबकतुल्‍ला के बीच कोई फर्क नहीं है। दोनों सामंत हैं। हमारी लड़ाई दोनों के खिलाफ़ है।‘’ मोहम्‍मदाबाद सीट के नतीजे में एक सामंत हारा है। यहां अलका राय भाजपा से जीत गई हैं। ज़ाहिर हे, एक सामंत से दूसरे की हार में भाकपा(माले) की कोई भूमिका नहीं है लेकिन लड़ाई है, तो चलती ही रहेगी।

यहां से करीब दो घंटे की दूरी पर बलिया की विधानसभा सीट सिकंदरपुर पड़ती है। जिस शाम हम यहां पहुंचे, वह प्रचार का आखिरी दिन था। कस्‍बे के लोकप्रिय और जुझारू वामपंथी नेता बलवंत यादव अपने साथियों समेत बोलेरो से उतरे। दिन भर गांव-गांव की खाक छानकर और परचे बांटकर वे बीच सड़क पर हमसे मिले। बलवंत भाई के साथ बाज़ार में चाय के एक ठीहे पर लंबी बातचीत हुई। उन्‍होंने किसानों की दशा और दुर्दशा पर अपना परचा थमाया। परचा दुधिया, किसान संघर्ष समिति की ओर से था। बलवंत यादव टेम्‍पू के निशान पर चुनाव लड़ रहे थे।

बलवंत यादव ने लंबे समय तक मतदाताओं को अपना चुनाव चिह्न ही नहीं बताया। उहें इसकी चिंता नहीं थी कि कितने वोट मिलेंगे। उनका एजेंडा साफ़ था। संयुक्‍त गठबंधन के ‘संघर्ष पत्र’ को लोगों के बीच ले जाया जाए और किसानों के मुद्दे पर जागरूकता कायम की जाए। वैसे बलवंत को सिकंदरपुर से कुल 1058 वोट मिले हैं। आज की तारीख में ऐसे प्रत्‍याशी दुर्लभ हैं जो अपने मुद्दे को गीत और संगीत के माध्‍यम से खुद जनता के बीच ले जाएं। सुनिए बलवंत यादव का तैयार किया ये गीत:

घंटे भर की दूरी पर बलिया जिला मुख्‍यालय है। क्‍या आप जानते हैं कि बलिया में भी आदिवासी पाए जाते हैं? बलिया के आदिवासियों के बारे में जाना हो तो अरविंद गोंड से मिलिए। इस बार टेम्‍पू के निशान पर बलिया नगर से चुनाव लड़कर वे पांचवें स्‍थान पर रहे हैं और कुल 1047 वोट लाए हैं। अरविंद गोंड से मिलते ही आपको दो-तीन अनजान किस्‍म के अभिवादन सुनाई पड़ सकते हैं, जैसे जय फड़ापेन या जय बड़ादेव। अरविंद भाई गोंडों की संस्‍कृति और भाषा से चीज़ें खोज-खोज कर लाते हैं।

Arvind Gond

गोंडवाना गणतंत्र पार्टी चलाने वाले अरविंद गोंड यहां गोंडों के नेता हैं। गोंडों को एसटी का दरजा हासिल है। अरविंद गोंडवाना भूमिक की बात करते हैं और आदिवासी संस्‍कृति की बहाली पर लंबा बोलते हैं। पिछले साल इन्‍होंने विश्‍व आदिवासी दिवस पर लखनऊ में एक मोर्चा निकाला था। यह अपने आप में इकलौता आयोजन था। लखनऊ की सड़कों पर हुड़ुक बजाते हुए कतारबद्ध चल रहे इन लोगों को शायद कौतूहल से राहगीरों ने देखा हो, लेकिन बलिया में अरविंद गोंड जाना पहचाना नाम हैं।

ऐसे तमाम नाम अभी बाकी हैं जिन पर हम अलग से बात कर सकते हैं। गोवा, मणिपुर और पंजाब को तो हमने छुआ ही नहीं है। हमारी जानकारी खुद इस मामले में बहुत कम है। सवाल उठता है कि एक-एक प्रत्‍याशी को देखना-समझना भले मुश्किल हो लेकिन मीडिया को क्‍या जनता के संघर्षों में लगे मोर्चे नहीं दिखाई पड़ते?

उत्‍तर प्रदेश के चुनाव में तमाम संघर्षशील ताकतों ने मिलकर एक संयुक्‍त गठबंधन बनाया था और अपने उम्‍मीदवारों को टेम्‍पू के निशान पर लड़वाया था। इन संगठनों में किसान मोर्चा, स्‍वराज अभियान, दुधिया किसान संघर्ष समिति, फूलन सेना, गोंडवाना गणतंत्र पार्टी, रिहाई मंच, प्रगतिशील भोजपुरी समाज, इंडियन पीपुल्‍स सर्विसेज, संविधानिक जनजागरण समिति, इंसाफ अभियान शामिल थे। इन तमाम संगठनों के नायकों में वीरांगना महारानी दुर्गावती, फूलन देवी, नीलाम्‍बर खरवार, पीताम्‍बर खरवार, बिरसा मुंडा, अशफाक़ उल्‍ला खॉं, भगत सिंह, शंकर शाह, रघुनाथ शाह, चंद्रशेखर आज़ाद आदि शामिल हैं जिनके नाम इनके प्रत्‍याशियों के परचों पर प्रमुखता से छपे हैं। क्‍या मीडिया को ये नाम दिखाई नहीं देते या वह जानबूझ कर भगत सिंह और आज़ाद की विरासत को भुलाए बैठा है।

देश-समाज को बदलने की लड़ाई बहुत लंबी है। यह पांचसाला चुनाव के वश की बात नहीं है। जीतने और हारने वाले में केवल यही फ़र्क है कि एक सदन में बैठता और दूसरा दफ्तर में, लेकिन जो लगातार लड़ रहे हैं वे खुली धूप में आज भी जनता के बीच मौजूद हैं। इन्‍हें मिले 90 से डेढ़ हज़ार वोट इस बात की ताकीद करते हैं कि असली लड़ाई चुनाव से बहुत आगे की चीज़ है। हो सकता है कल चुनाव की प्रणाली ही बुनियादी रूप से बदल जाए। तब कैमरों को घूम-घूम कर जनता के असली झंडाबरदारों को खोजना पड़ेगा। मीडिया ने इन्‍हें आज भुलाया, तो कल बहुत देर हो जाएगी और हमारे जिंदा नायक चौराहों पर खड़ी मूर्तियों में बचे रह जाएंगे।

ग़ाज़ीपुर में कामरेड सरजू पांडे की प्रतिमा

98 COMMENTS

  1. Admiring the time and energy you put into your blog and in depth information you present.
    It’s awesome to come across a blog every once in a
    while that isn’t the same unwanted rehashed information.
    Excellent read! I’ve saved your site and I’m including your RSS feeds to my Google
    account.

  2. Wow! This blog looks just like my old one! It’s on a
    totally different topic but it has pretty much the same page layout and design. Outstanding choice
    of colors!

  3. I like the helpful information you provide in your
    articles. I will bookmark your blog and check again here
    regularly. I’m quite sure I’ll learn plenty of new stuff
    right here! Good luck for the next!

  4. Definitely consider that that you stated. Your favourite justification seemed to be on the internet the easiest factor to have in mind of.
    I say to you, I certainly get annoyed whilst people consider concerns
    that they plainly don’t understand about. You
    managed to hit the nail upon the highest and outlined out the entire
    thing with no need side effect , folks can take a signal.

    Will likely be back to get more. Thanks

  5. Hello, i think that i saw you visited my web site so i came to “return the favor”.I am attempting to find things to improve my site!I suppose its ok to
    use a few of your ideas!!

  6. Good day! I know this is kinda off topic nevertheless I’d figured I’d ask.
    Would you be interested in exchanging links or maybe guest authoring a
    blog article or vice-versa? My site discusses a lot of the
    same topics as yours and I think we could greatly benefit from each other.
    If you’re interested feel free to shoot me an e-mail.

    I look forward to hearing from you! Excellent blog by the way!

  7. I’ve been exploring for a bit for any high quality articles or weblog
    posts on this sort of area . Exploring in Yahoo I finally stumbled
    upon this site. Studying this info So i’m happy to convey
    that I’ve a very just right uncanny feeling I discovered
    just what I needed. I such a lot surely will make sure to do
    not overlook this site and give it a look regularly.

  8. Please let me know if you’re looking for a article writer for your blog.
    You have some really good posts and I think I would be a good asset.

    If you ever want to take some of the load off, I’d really
    like to write some articles for your blog in exchange for a link back to
    mine. Please blast me an email if interested. Thanks!

  9. Definitely consider that that you said. Your favorite justification seemed to
    be at the web the easiest thing to keep in mind of.
    I say to you, I definitely get irked while people consider worries that they just do not recognise about.
    You managed to hit the nail upon the highest and also outlined out
    the entire thing with no need side effect , people could take a signal.
    Will probably be again to get more. Thanks

  10. Hi there everybody, here every one is sharing such knowledge,
    thus it’s good to read this blog, and I used to pay a visit this website all the time.

  11. I discovered your blog web page on google and check a couple of of your early posts. Continue to preserve up the incredibly very good operate. I just further up your RSS feed to my MSN News Reader. Searching for forward to reading much more from you later on!

  12. I will right away clutch your rss as I can not in finding your email subscription link or newsletter service.

    Do you’ve any? Please permit me recognize in order that I may just subscribe.
    Thanks.

  13. Very good blog! Do you have any hints for aspiring writers? I’m planning to start my own website soon but I’m a little lost on everything. Would you advise starting with a free platform like WordPress or go for a paid option? There are so many options out there that I’m totally overwhelmed .. Any tips? Bless you!

  14. You can find undoubtedly a good deal of details like that to take into consideration. That’s an incredible point to bring up. I provide the thoughts above as general inspiration but clearly you will discover questions like the 1 you bring up where probably the most crucial factor will likely be working in honest superior faith. I don?t know if ideal practices have emerged around items like that, but I’m sure that your job is clearly identified as a fair game. Each boys and girls feel the impact of just a moment’s pleasure, for the rest of their lives.

  15. Woah! I’m really loving the template/theme of this site. It’s simple, yet effective. A lot of times it’s difficult to get that “perfect balance” between user friendliness and appearance. I must say you have done a amazing job with this. Additionally, the blog loads very fast for me on Chrome. Outstanding Blog!

  16. Whats up very cool website!! Man .. Excellent .. Wonderful ..

    I will bookmark your website and take the feeds also? I’m satisfied to search out a lot of helpful information here within the submit, we’d like work out extra techniques on this regard, thank you for sharing.
    . . . . .

  17. Hi! This is my first comment here so I just wanted to give a quick shout out and tell you I truly enjoy reading your articles. Can you recommend any other blogs/websites/forums that cover the same subjects? Thank you so much!

  18. Hey this is somewhat of off topic but I was wanting to know if blogs use WYSIWYG editors or if you
    have to manually code with HTML. I’m starting a blog
    soon but have no coding know-how so I wanted to get advice from someone
    with experience. Any help would be greatly appreciated!

  19. Wonderful work! This is the kind of info that should be shared around the web. Disgrace on the search engines for no longer positioning this submit higher! Come on over and discuss with my web site . Thank you =)

  20. What’s Going down i’m new to this, I stumbled upon this I have discovered It positively helpful and it has helped me out loads.

    I am hoping to give a contribution & help different users like its helped me.
    Great job.

  21. Magnificent beat ! I wish to apprentice while you amend your website, how can i subscribe for a blog site? The account aided me a applicable deal. I had been a little bit familiar of this your broadcast offered shiny clear idea

  22. Excellent site you have here but I was wondering if
    you knew of any discussion boards that cover the same topics
    talked about in this article? I’d really love to be a part of group
    where I can get advice from other experienced individuals that share the same interest.
    If you have any suggestions, please let me know.
    Cheers!

  23. Hello there, I found your site by way of Google whilst searching for a
    comparable subject, your site got here up, it appears to be like great.
    I have bookmarked it in my google bookmarks.
    Hello there, just turned into aware of your blog via Google, and located that it’s really informative.
    I’m gonna watch out for brussels. I will appreciate in the event you proceed this in future.
    Numerous other people shall be benefited from your writing.
    Cheers!

  24. I have been exploring for a bit for any high quality articles or blog posts on this kind
    of space . Exploring in Yahoo I finally stumbled upon this web
    site. Reading this information So i’m happy to exhibit
    that I have an incredibly excellent uncanny feeling I came upon just what I needed.
    I such a lot unquestionably will make sure to don?t overlook this website and give it a glance regularly.

  25. Heya i am for the primary time here. I came across this board and I to find It truly useful & it helped me out a lot.

    I’m hoping to give one thing again and aid others like you aided me.

  26. Hello there! I know this is kinda off topic but I was
    wondering if you knew where I could locate a captcha plugin for my comment form?
    I’m using the same blog platform as yours and I’m having problems finding one?
    Thanks a lot!

  27. hello there and thank you for your info – I have definitely picked up anything new from right here. I did however expertise several technical points using this site, as I experienced to reload the site a lot of times previous to I could get it to load properly. I had been wondering if your hosting is OK? Not that I’m complaining, but sluggish loading instances times will very frequently affect your placement in google and can damage your high quality score if advertising and marketing with Adwords. Well I’m adding this RSS to my email and could look out for much more of your respective interesting content. Ensure that you update this again very soon..

  28. This is really interesting, You are an excessively skilled blogger. I’ve joined your feed and look ahead to in quest of more of your great post. Additionally, I’ve shared your site in my social networks!

  29. magnificent issues altogether, you simply won a logo new reader. What might you recommend in regards to your put up that you made some days in the past? Any certain?

  30. Hi would you mind sharing which blog platform you’re working
    with? I’m going to start my own blog in the near future but I’m having a hard time selecting between BlogEngine/Wordpress/B2evolution and
    Drupal. The reason I ask is because your design seems
    different then most blogs and I’m looking for something completely unique.
    P.S My apologies for being off-topic but I had to ask!

  31. Heya i’m for the first time here. I came across this board
    and I find It really useful & it helped me out much. I hope to give something back and aid others like you helped me.

  32. Hi there, just changed into aware of your weblog thru Google, and located that it’s truly informative. I’m gonna be careful for brussels. I will appreciate for those who proceed this in future. Lots of people might be benefited out of your writing. Cheers!

  33. Immediately after study some of the weblog posts on your web page now, and I genuinely like your way of blogging. I bookmarked it to my bookmark site list and will be checking back soon. Pls check out my website as well and let me know what you feel.

  34. Very great post. I just stumbled upon your blog and wished to mention that I have truly enjoyed browsing
    your weblog posts. After all I will be subscribing for your rss feed and
    I hope you write again soon!

  35. I discovered your blog web site on google and test a few of your early posts. Proceed to maintain up the excellent operate. I just additional up your RSS feed to my MSN News Reader. In search of forward to studying extra from you later on!…

  36. What’s Going down i’m new to this, I stumbled upon this I have discovered It absolutely helpful and it has helped me out loads. I hope to contribute & assist other users like its aided me. Great job.

  37. What’s up to all, since I am truly keen of reading this weblog’s post to be updated on a
    regular basis. It consists of fastidious information.

  38. you’re really a good webmaster. The site loading speed is amazing. It seems that you’re doing any unique trick. Moreover, The contents are masterwork. you have done a excellent job on this topic!

  39. Thank you for another informative website. Where else could I get that kind of information written in such a perfect way? I have a project that I am just now working on, and I’ve been on the look out for such information.

  40. Unquestionably imagine that which you said. Your favourite justification seemed to be at the net the easiest factor to take note of. I say to you, I definitely get irked even as people consider concerns that they just don’t recognise about. You managed to hit the nail upon the top and outlined out the whole thing with no need side effect , people could take a signal. Will probably be back to get more. Thanks

  41. Just desire to say your article is as amazing.
    The clarity in your post is simply cool and i could assume you’re an expert on this subject.
    Fine with your permission allow me to grab your RSS feed to keep up to date with forthcoming post.
    Thanks a million and please carry on the gratifying work.

  42. Thank you for the auspicious writeup. It actually was a amusement account it. Look complicated to far added agreeable from you! By the way, how can we keep up a correspondence?

  43. I just couldn’t depart your site before suggesting that I really loved the standard information an individual supply to your guests? Is gonna be back incessantly in order to investigate cross-check new posts

  44. certainly like your web-site but you have to check the spelling on several of your posts. Several of them are rife with spelling issues and I find it very troublesome to tell the truth nevertheless I will certainly come back again.

  45. Hmm is anyone else experiencing problems with
    the images on this blog loading? I’m trying to find out if its a problem on my end or if it’s
    the blog. Any suggestions would be greatly appreciated.

  46. Hmm is anyone else encountering problems with the pictures
    on this blog loading? I’m trying to determine if its a problem on my end
    or if it’s the blog. Any suggestions would be greatly appreciated.

  47. This website is mostly a stroll-by way of for the entire data you wanted about this and didn’t know who to ask. Glimpse here, and you’ll undoubtedly discover it.

  48. Hello, i feel that i noticed you visited my website thus i got here to return the want?.I am attempting to find things to enhance
    my website!I assume its good enough to make use of some of your ideas!!

  49. Greetings! Very useful advice within this article! It is the little changes that produce the most
    important changes. Thanks for sharing!

  50. Hey there! Someone in my Facebook group shared this site with us so I came to give it a look. I’m definitely loving the information. I’m book-marking and will be tweeting this to my followers! Fantastic blog and wonderful design.

LEAVE A REPLY