Tuesday, September 19, 2017

टीवी

हे परमपिता, सुमित अवस्‍थी को माफ़ करना! वे नहीं जानते प्रेस क्‍लब में वे क्‍या कह गए!

टीवी चैनलों में अज्ञानता की अर्हता ने जिन लोगों के संपादक बनने का रास्‍ता पिछले कुछ वर्षों में आसान बनाया है, उनमें एक नाम सुमित अवस्‍थी का है। अवस्‍थी और समाचार चैनलों के बाकी प्रस्‍तोताओं के बीच एक बुनियादी अंतर है। वो ये, कि उनके अलावा बाकी लोग बोलने में कम से कम असहज महसूस नहीं करते। सुमित अवस्‍थी...

अख़बार

आयोजन

परिसर

अपील

मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

पड़ताल

मोर्चा

न्यू मीडिया

दस्तावेज़

वीडियो